राजधानी में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। आम महिलाओं को तो छोडें खुद महिला पुलिसकर्मी भी सुरक्षित नजर नहीं आ रही हैं।

अलीगंज में छेड़छाड़ के विरोध पर महिला सिपाही पर हमले के बाद अब कृष्णानगर में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है।

इस बार कृष्णानगर में खरीदारी करने निकली महिला सिपाही से शोहदों ने छेड़छाड़ की। महिला सिपाही ने विरोध किया तो आरोपितों ने मारपीट की कोशिश की। दोनों आरोपित नशे में धुत थे।

मामले की गंभीरता को देखते हुए महिला आरक्षी ने कृष्णानगर पुलिस को घटना के बारे में बताया। इसके बाद दोनों के खिलाफ छेड़छाड़ व मारपीट की एफआइआर दर्ज की गई। पुलिस का कहना है कि वर्ष 2016 बैच की महिला सिपाही बुधवार रात में फिनिक्स मॉल गई थीं।

इस दौरान स्कूटी सवार दो युवकों ने महिला आरक्षी पर अश्लील टिप्पणी शुरू कर दी। महिला सिपाही ने विरोध किया तो अभद्रता करने लगे। यही नहीं आरोपितों ने छेड़छाड़ शुरू कर दी और मारपीट की कोशिश भी की।

महिला आरक्षी की शिकायत पर कृष्णानगर कोतवाली में सरोजनीनगर के विशाल लोधी और कैलाश वर्मा के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई। इसके बाद पुलिस ने दोनों आरोपितों को दबोच लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपितों को जेल भेज दिया गया है।

अलीगंज थाने में तैनात महिला सिपाही सेक्टर-बी में किराए पर रहती हैं। 29 अगस्‍त रविवार शाम महिला सिपाही पिंक पुलिस की स्कूटी में तैनात थी। वह ड्यूटी के दौरान गश्त कर रही थीं इस बीच मोहल्ले में रहने वाले प्रभात सिंह ने छींटाकशी कर अभद्र टिप्पणी की।

महिला सिपाही ने स्कूटी रोक दी और विरोध किया। इस पर प्रभात गाली-गलौज करने लगा। महिला सिपाही के विरोध पर प्रभात ने लोहे के राड से हमला बोल दिया। ताबड़तोड़ कई प्रहार कर दिए। हमले से महिला सिपाही का सिर फट गया और चेहरे पर गंंभीर चोट आयी।

शोर सुनकर जबतक आस पड़ोस के लोग दौड़ते हमलवार प्रभात भाग निकला। इंस्पेक्टर पन्ने लाल यादव ने बताया कि सूचना मिलते ही थाने से पुलिस बल मौके पर भेजा गया।

घायल महिला सिपाही को अस्पताल भेजा गया। इसके बाद महिला सिपाही की तहरीर पर शोहदे प्रभात के खिलाफ छेड़छाड़ और जानलेवा हमले की धारा में मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

Share.

Comments are closed.