आपको बता दें कि बुंदेलखंड में गरीबी मुफलिसी के कारण आत्महत्याओं का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा जानकारी के मुताबिक बुंदेलखंड के जालौन जिले से खबर प्रकाश में आई है जहां एक 65 वर्षीय वृद्ध तेजराम उर्फ लल्लू राठौर ने फांसी लाकर आत्महत्या कर ली!

आत्महत्या का कारण आर्थिक तंगी माना जा रहा है बताया जा रहा है कि मृतक लगभग 2 वर्ष से मानसिक रूप से तनाव में चल रहा था जिसके चलते उसका उपचार भी गवालियर में जारी था और घर की आर्थिक स्थिति खराब थी जिसको लेकर वृद्ध ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया है!

बता दें कि मृतक वृद्ध तेजराम राठौर के तीन पुत्री व एक पुत्र है पुत्र विकलांग है जबकि तीन पुत्रियों की शादी हो चुकी है!

वहीं मामले की सूचना मिलते ही मौके पर कुठौंद थाना पुलिस पहुंची और वृद्ध के शव को कब्जे में लेकर अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी!

Share.

Comments are closed.