पीलीभीत में नेपाली हाथियों के उत्पात से परेशान किसान अब रोने को मजबूर है। नेपाली हाथियों का झुंड बुधवार की रात को जंगल से निकल कर खेतों में पहुंचा। जहां उसने किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचाया। गौरतलब है कि नेपाली हाथियों का झुंड फिर से टाइगर रिजर्व के बराही रेंज में जा पहुंचा है।

पिछले कई दिन से हाथियों का झुंड माला रेंज के जंगल में घूम रहा था। इस दौरान हाथियों ने रात के समय जंगल से निकट खेतों में पहुंचकर गन्ने की फसल को काफी नुकसान पहुंचाया। बुधवार की रात ये हाथी फिर बराही रेंज में जा पहुंचे। हाथियों ने जंगल से सटे गांव पिपरिया संतोष में किसानों की धान की फसल को काफी नुकसान पहुंचाया।

ये हाथी पिछले महीने पड़ोसी देश नेपाल के शुक्ला फांटा जंगल से निकलकर बराही रेंज के लग्गा भग्गा जंगल से होते हुए महोफ रेंज में पहुंचे थे। दो बार इन हाथियों को वन कर्मियों की टीम पड़ोसी उत्तराखंड की सुरई रेंज के जंगल में खदेड़ चुके लेकिन दोनों बार हाथी फिर इसी क्षेत्र में लौट आए।

अब हाथियों ने बराही रेंज में फिर से डेरा डाला है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि अब ये हाथी उसी पुराने रास्ते से नेपाल की ओर लौट सकते हैं। हाथियों की मानीटरिंग कर रहे वन दारोगा मोहम्मद आरिफ के अनुसार बुधवार की शाम ये हाथी चूका के कंपार्टमेंट 98,99 में झनकइया की ओर दिखे हैं। ये मुस्तफाबाद की ओर रुख कर सकते हैं।

Share.

Comments are closed.