बसपा सुप्रीमो मायावती ने नौ अक्टूबर को कांशीराम पुण्यतिथि के अवसर पर होने वाली रैली की तैयारी करते हुए कार्यकर्ताओं के लक्ष्य तय कर दिए।

बुधवार को उन्होंने सभी जिलाध्यक्षों एवं कोआर्डिनेटरों की बैठक में निर्देश दिए कि प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से पांच पांच बसों में कार्यकर्ताओं को लखनऊ लाया जाए। इसके अतिरिक्त अपने निजी वाहन कार आदि में भी कार्यकर्ता यहां पहुंचेंगे।

मंगलवार को ब्राह्मण सम्मेलन में मायावती ने मंच से एलान किया था कि इस बारकांशीराम पुण्यतिथि के अवसर पर जिला या मंडल स्तर पर कोई पार्टी स्तरीय आयोजन नहीं होगा इस बार प्रदेश भर का कार्यक्रम लखनऊ में आयोजित किया जाएगा।

यहां के कांशीराम पार्क में कार्यकर्ता श्रद्धांजलि देंगे। इस मौके पर मायावती कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगी। इसकी तैयारियों को लेकर बुधवार को लखनऊ में पार्टी केराज्य कार्यालय पर  मायावती ने सभी जिलाध्यक्षों तथा कोआर्डिनेटरों के साथ बैठक की।

उन्होंने कहा कि सभी पदाधिकारी अपने अपने क्षेत्र में जाकर इस कार्यक्रम की तैयारियों में जुट जाएं। स्थानीय स्तर पर बैठकें आयोजित करें। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र से पांच पांच बसों में कार्यकर्ताओं को लखनऊ लाया जाएगा।

लखनऊ के निकटवर्ती विधानसभा क्षेत्रों से बसों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि चुनावी बयार पूरी तरह से शुरू हो चुकी है। कार्यकर्ता अब पूरी तरह से इसकी तैयारी में जुट जाएं और बूथ स्तर तक अपनी तैयारियों को मजबूत कर लें।

भोजन का स्वयं करना होगा इंतजाम
मायावती ने कहा कि कार्यक्रम स्थल पर कार्यकर्ताओं के लिए भोजन का इंतजाम नहीं होगा। स्थानीय स्तर पर ही यह व्यवस्था की जाएगी। वहीं से कार्यकर्ता अपना भोजन साथ लेकर आएंगे। कोविड नियमों का पूरा पालन करना होगा।

अफवाहों से बचें
बसपा प्रमुख ने जिलाध्यक्षों तथा कोआर्डिनेटरों को निर्देश दिए कि विरोधी पार्टियां चुनाव में बसपा के खिलाफ अफवाह, दुष्प्रचार करने पर आमादा है। ऐसे में न केवल उससे बचना है बल्कि कार्यकर्ताओं को भी इसके लिए सजग करना है। हर बैठक में इस बाबत कार्यकर्ताओं को समझाया जाए।

Share.

Comments are closed.