मालदा , 08 सितंबर: मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल के मरीज व उसके परिजनों को इन दिनों पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

एक तरफ भीषण गर्मी और दूसरी तरफ पेयजल के संकट के कारण यहाँ लोगों का बुरा हाल हो रहा है। बताया जाता है मालदा मेडिकल

कॉलेज व अस्पताल में पेयजल के दो स्त्रोत हैं। पिछले तीन चार महीने से अस्पताल के पेयजल का मुख्य स्त्रोत बंद पड़ा है। अस्पताल के सामने

पेयजल का दूसरा स्त्रोत भी बंद होने के कगार पर है। यहाँ केवल दो नल खुले हैं बाकी सब बंद पड़ा है। इन्हीं दो नलों से अस्पताल के मरीज व

उनके परिजनपीने का पानी के साथ साथ मुँह व कपडे धोने के लिए पानी लेते हैं। यहाँ पानी के लिए सुबह से लोगों की लंबी कतारें देखने को

मिलती है । मरीज के परिजनों के मुताबिक मेडिकल कॉलेज व अस्पताल परिसर में दो जलाशय हैं, जिनमें से एक कई महीने से खराब है. दूसरे

जलाशय केवल दो नल हैं। बाकी नल खराब हैं। ऐसे में उन्हें पानी लेने में दिक्कत हो रही है। वे गरीब लोग रोज पानी नहीं खरीद सकते। इसलिए

उनका अनुरोध है कि अगर मेडिकल कॉलेज में कुछ और जलाशयों की व्यवस्था की जाए तो पानी की समस्या से निजात मिल जाएगी. दूसरी

ओर मालदा मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों ने कहा कि वे मामले की छानबीन कर उचित कदम उठाएंगे।

Share.

Comments are closed.