लोहता थाना क्षेत्र के घमहापुर गांव में मंगलवार को तहसीलदार न्यायिक के नेतृत्व में पुलिस और राजस्व कर्मी सरकारी जमीन की पैमाइस करने पहुंचे।

इस दौरान एक परिवार के पक्ष से महिला और पुरुषों ने ईट पत्थर से हमला कर दिया, जिससे कई राजस्व और पुलिस कर्मी घायल हो गये। राजस्व टीम को बिना पैमाइश किए ही वापस आना पडा। इस मामले में ग्राम प्रधान की तहरीर पर एक दर्जन नामजद और एक दर्जन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके तीन महिला और दो पुरुषों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

घमहापुर गांव में पंचायत भवन का निर्माण होना है, जिसके लिए सरकारी जमीन की पैमाइश के लिए सोमवार को राजस्व टीम गई थी। विरोध के कारण बिना पैमाइश किए टीम वापस चली आई।

मंगलवार को एसडीएम सदर ने तहसीलदार न्यायिक के नेतृत्व में एक टीम बनाकर भेजा। पुलिस के साथ राजस्व कर्मी जब पैमाइश के लिए पहुंचे तो अमर नाथ साहनी के परिवार की महिलाएं और पुरुषों ने पुलिस और राजस्व कर्मचारियों पर ईट पत्थर से हमला कर दिया।

इस दौरान महिला पुलिस और राजस्व की टीम के कई लोग घायल हो गये। पुलिस कर्मी वापस आने लगे तो गोबर भी महिलाओं ने उनके ऊपर फेंकना शुरू कर दिया।

ग्राम प्रधान हंसलाल साहनी की तहरीर पर एक दर्जन नामजद और एक दर्जन अज्ञात के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा, बलवा, मारपीट सहित कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करके तीन महिला और दो पुरुष को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया है।

एसडीएम सदर नंदकिशोर कलाल ने बताया कि घमहापुर गांव में साढे छह विस्वा जमीन है, जिसमें डेढ विस्वा पर पंचायत भवन बनना है। उसी की पैमाइस के लिए टीम गई थी। जमीन पर अनाधिकृत रुप से कब्जा किए लोग टीम के साथ मार पीट किए, जिनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।

Share.

Comments are closed.