फीरोजाबाद में दो दिन से सामान्य हो रहे हालात के बीच मंगलवार को चार लोगों ने दम तोड़ दिया, मथुरा में भी हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। वहां 13 गांव में डेंगू और वायरल फीवर फैल गया है।

ब्रज में पिछले 24 घंटे में 11 और मृत्यु होने के बाद मृतकों की संख्या 144 हो गई है। इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बाद दोनों जिलों में विशेषज्ञों की टीम पहुंच गई है।

फीरोजाबाद में किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के पीडियाट्रिक्स विभाग के प्रोफेसर डा. एसके सिंह ने सौ शैया अस्पताल में रोगियों व मेडिकल कालेज प्राचार्या डा. संगीता अनेजा से मुलाकात की। उन्होंने भर्ती बच्चों की बीमारी, इलाज और मौतों की जानकारी ली।

उनका कहना है कि वह डेंगू की तीव्रता का अध्ययन कर रिपोर्ट शासन को सौंपेंगे। उधर, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य एवं चिकित्सा डा. विकास सिंघल व स्वयं सेवी संस्था पाथ के स्टेट टेक्निकल आफिसर डा. अमृत शुक्ला ने सीएमओ के साथ बैठक की।

मथुरा में राम मनोहर लोहिया चिकित्सा संस्थान लखनऊ के एसोसिएट प्रोफेसर डा. शंभू ने आकर जानकारी जुटानी शुरू कर दी है। इधर, पिछले 24 घंटे में फीरोजाबाद में चार, हाथरस में दो, कासगंज में तीन व मथुरा में एक रोगी की मृत्यु हुई है। इनमें अधिकांश बच्चे हैं।

मथुरा में चार दिन पूर्व तक चार गांव में ही डेंगू व अन्य तरह के वायरल का प्रकोप था। अब यह 13 गांव में फैल चुका है। जिले में 21 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग 12 की मौत होना मान रहा है।

फीरोजाबाद में खुले स्कूल
फीरोजाबाद में कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों में मंगलवार को पढ़ाई शुरू हो गई है। पहले एक सितंबर से खुलने थे, लेकिन बुखार के प्रकोप की वजह से डीएम चंद्रविजय सिंह ने सभी स्कूलों को खोलने पर रोक लगा दी।

बाल संरक्षण आयोग की टीम पहुंची मथुरा
राष्ट्रीय बाल संरक्षण अधिकार आयोग (एनसीपीसीआर) की रजिस्ट्रार अनु चौधरी आयोग की सलाहकार प्रज्ञा प्रियंबदा और प्रशांत चौहान के साथ मथुरा पहुंच गई हैं।

टीम ने जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल और स्वर्ण जयंती अस्पताल में भर्ती बच्चों का हाल जाना। उनके स्वजन से बीमारी के बारे में जानकारी ली। चौधरी ने बताया कि वह स्वत: संज्ञान लेकर आई हैं। यहां के हालात की रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

Share.

Comments are closed.