अमेठी: ज़िले में बारिश के चलते एक मकान की कच्ची दीवार ढह गई, जिसकी चपेट में पांच मासूम बच्चे आ गए। हादसे के शिकार बच्चों को ग्रामीणों ने मलबे से निकालकर फौरन अस्पताल पहुंचाने की कवायद की, लेकिन सीएचसी में डॉक्टरों ने तीन बच्चों को मृत घोषित कर दिया और बाकी दो बच्चों के गंभीर रूप से घायल होने के बाद उन्हें खतरे से बाहर बताया गया।

इधर, तीन बच्चों की मौत की खबर से पूरे गांव में कोहराम मच गया, तो ज़िला प्रशासन के आला अफसर घटनास्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों को उन्होंने हर तरह की मदद का आश्वासन दिया।

पूरा मामला अमेठी ज़िले के तिलोई तहसील के टोडरपुर मजरे जमुरवां गांव का है। सोमवार शाम तेज़ बारिश में कच्ची दीवार ढहने से 8 वर्षिय वंश पुत्र श्यामलाल, 6 वर्षीय दिव्यांशु पुत्री राजेश और 10 वर्षीय सत्यम पुत्र शिवराज की मौके पर मौत हो गई।

मासूमों की मौत के बाद परिजनों में मातम पसर गया, तो वहीं घायल 10 वर्षीय आशीष पुत्र श्यामलाल और शिवा (10) पुत्र राम बाबू को मलबे से निकालकर इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया गया। फिलहाल दोनों खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं।

ग्रामीणों की मदद से बच्चों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तिलोई ले जाया गया था। दो घायल बच्चों का सीएचसी में इलाज चला लेकिन बाद में एक बच्चे की हालत गंभीर होने के बाद उसे ज़िला अस्पताल रायबरेली रेफर किया गया।

पूरे मामले की सूचना मिलते ही अमेठी डीएम अरुण कुमार, पुलिस अधीक्षक दिनेश सिंह, सीएमओ आशुतोष कुमार दुबे सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। डीएम ने मृतक बच्चों के परिवारों को हर संभव मदद का भरोसा दिया। वहीं, पुलिस ने शवों को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

Share.

Comments are closed.