कृषि कानूनों के खिलाफ लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे किसान अब महापंचायत आयोजित कर रहे हैं। किसानों ने हरियाणा के करनाल (Karnal) में आज किसान महापंचायत बुलाई है।

महापंचायत के मद्देनजर जिला प्रशासन व पुलिस की ओर से पूरी तैयारी की गई है। किसानों की इस सभा में जहां लाखों की संख्या में किसानों की आने की संभावना जताई जा रही है। वहीं, भारी संख्या में पुलिस व पैरामिलेट्री फोर्स की भी तैनात कर दी गई है। एहतियात बरतते हुए प्रशासन ने करनाल समेत पांच जिलों में इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी है।

रनाल में रात 12:00 बजे तक के लिए इंटरनेट बंद किया गया. इसके अलावा करनाल के आसपास के 4 जिलों कुरुक्षेत्र, पानीपत, जींद और कैथल में भी इंटरनेट बंद किया गया.

जिला प्रशासन ने लगाई धारा 144

करनाल में मंगलवार को लघु सचिवालय का घेराव करने के किसानों के कार्यक्रम से एक दिन पहले प्रशासन ने सोमवार को लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया. अधिकारियों ने बताया कि जिला प्रशासन ने दण्ड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर पांच या उससे अधिक लोगों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

हरियाणा भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) के प्रमुख गुरनाम सिंह चढूनी ने सोमवार को कहा कि मंगलवार को यहां एक विशाल पंचायत का आयोजन किया जाएगा, जिसके बाद किसान लघु सचिवालय का घेराव करेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘ किसान मंगलवार सुबह करनाल की नयी अनाज मंडी में एकत्रित होंगे.”

लघु सचिवालय का घेराव

सोमवार को किसानों की प्रशासन के साथ मीटिंग के बेनतीजा रहने के बाद आज किसान करनाल जिला सचिवालय का घेराव करने करनाल में पहुच रहे हैं। इसे देखते हुए पुलिस और सुरक्षा बलों को पूरी तरह से अस्त्र-शस्त्र के साथ तैनात किया गया। करनाल के अनाज मंडी लघु सचिवालय में सभी जगह हजारों की संख्या में जवान लगाए गए हैं ताकि किसान किसी भी तरह लघु सचिवालय में एंट्री न कर सके।

Share.

Comments are closed.