आरोप है कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पिता नंद कुमार बघेल ने हाल ही में उत्तर प्रदेश में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ब्राह्मणों को विदेशी बताकर लोगों से उनका बहिष्कार करने की अपील की थी। सर्व ब्राह्मण समाज की शिकायत पर यह एफ़आईआर दर्ज की गई है।

पुलिस अधिकारी का कहना है कि सर्व ब्राह्मण समाज की शिकायत पर डीडी नगर थाने की पुलिस ने शनिवार (चार सितंबर) देर रात नंद कुमार बघेल (86 वर्ष) के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। अधिकारी ने बताया कि नंद कुमार बघेल के खिलाफ आईपीसी की धारा 153ए (विभिन्न समूहों के बीच धर्म, जाति, जन्मस्थान, निवास और भाषा के आधार पर वैमनस्य पैदा करना) और धारा 505(1)(बी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि शिकायत में संगठन ने आरोप लगाया है कि हाल में मुख्यमंत्री के पिता ने ब्राह्मणों को विदेशी बताकर लोगों से उनका बहिष्कार करने की अपील की थी। उन्होंने कथित तौर पर लोगों से ब्राह्मणों को गांव में घुसने नहीं देने का भी आह्वान किया था।

अधिकारी ने शिकायत के हवाले से बताया कि नंद कुमार बघेल ने कथित तौर पर लोगों से ब्राह्मणों को देश से निकालने की अपील की। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के पिता इससे पहले भगवान राम के बारे में कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी कर चुके हैं।

अधिकारी ने बताया कि संगठन ने अपनी शिकायत में कहा कि मुख्यमंत्री के पिता की कथित टिप्पणी का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। पुलिस के मुताबिक, ‘नंद कुमार बघेल ने यह कथित टिप्पणी हाल में उत्तर प्रदेश में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए की थी.’

इस बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक बयान में कहा कि उनके पिता की टिप्पणी उनके संज्ञान में आई है और वह इससे दुखी हैं। राज्य के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी बयान में मुख्यमंत्री को उद्धृत करते हुए कहा गया, ‘मेरे पिता नंद कुमार बघेल द्वारा एक वर्ग के खिलाफ की गई टिप्पणी मेरे संज्ञान में आई है। यह टिप्पणी उस वर्ग की भावनाओं को आहत करने के साथ सामाजिक सौहार्द को भी प्रभावित करती है, मैं इससे दुखी हूं।’

Share.

Comments are closed.