प्रदेश में 377 खेल प्रशिक्षको को वर्तमान सरकार ने 19 माह से उनको वेतन नही दिया है।जिससे उनको मजदूरी,मनरेगा के काम,पकौड़े बेचने का काम या चाय बेचना पड़ रहा है। इससे बड़ी शर्म की क्या बात हो सकती हैं कि नेशनल लेवल पर डिप्लोमा करने वाले आज भूखों मरने की स्थिति पर आ गए हैं।

यह बात आज समाजवादी पार्टी स्पोर्टस बिंग के प्रदेश प्रभारी, बाँदा जनपद के वरिष्ठ नेता व प्रदेश के पूर्व बालीबाल खिलाड़ी हसनउद्दीन सिद्दीकी ने कही।स्पोर्टस बिंग के प्रदेश प्रभारी बनाने के बाद पहली बार बाँदा जनपद में आने पर हमीरपुर बाँदा बार्डर सिकहुला मोड़ में सपाइयों ने उनका स्वागत फूल मालाओं से किया।प्रदेश प्रभारी हसनउद्दीन सिद्दीकी ने पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओ का उत्साह व जोश देखकर कहा कि आने वाली सरकार सपा की होगी।सभी लोग अभी से 2022 जितने की तैयारी शुरू कर दे।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में इससे पहले जब सपा की सरकार थी तो खिलाड़ियों को यश भारती पुरस्कार देने का काम किया था।उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में लगभग 450 खेल प्रशिक्षक डिप्लोमा धारक हैं। जिनमे से 377 खेल प्रशिक्षक कार्यरत हैं जिनका मानदेय पूर्व की मुलायम सिंह यादव की सरकार ने 7 हजार से बढ़ाकर 12 हजार किया था। अखिलेश यादव की सरकार ने 12 हजार से 25 हजार किया।लेकिन वर्तमान सरकार ने 19 माह से उनको वेतन नही दिया है।

उन्होंने कहा कि सपा की सरकार आई तो प्रदेश के सभी खेल प्रशिक्षको को ससम्मान पूरा मानदेय का पैसा दिया जाएगा।इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष विजयकरण यादव,अजय सिंह चौहान, पूर्व विधायक विशम्भर यादव, मोहन साहू, अशोक सिंह गौर, विदित त्रिपाठी, निर्भय सिंह मोंटी, किरण वर्मा, उर्मिला वर्मा, अर्चना पटेल, नीलम गुप्ता, जगमोहन यादव, सैफुर्रहीम लखनऊ, कारी मुबीन लखनऊ, अमित कश्यप लखनऊ, बाल्मीकि,सभाजीत यादव,नरेंद्र सिंह गौतम,मनोज यादव,महेश यादव,विकास गौतम,शैलू सिंह आदि सहित सैकड़ों सपा नेता मौजूद रहे।

Share.

Comments are closed.