वाराणसी। विश्वकर्मा पूजा छुट्टी की मांग को लेकर विश्‍वकर्मा समाज द्वारा किए जा रहे आंदोलन में कांग्रेस पार्टी भी शामिल हो गई है। ऑल इंडिया यूनाइटेड विश्वकर्मा शिल्पकार महासभा एवं कांग्रेस पार्टी के संयुक्त तत्वावधान में शनि‍वार शाम शास्त्री चौक से राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक कुमार विश्वकर्मा व पालिका परिषद की अध्यक्ष श्रीमती रेखा शर्मा के नेतृत्व में सैकड़ों की संख्या में लोगों ने मशाल जुलूस निकाल कर सरकार से विश्वकर्मा पूजा पर्व पर छुट्टी की मांग की।

इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा सरकार देवी देवताओं और महापुरुषों के साथ धर्म और जाति के आधार पर भेदभाव तथा वोट की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा सृजन के देवता भगवान विश्वकर्मा को महापुरुष कह कर विश्वकर्मा पूजा का छुट्टी निरस्त किए जाने एवं सरकार की हठधर्मिता के चलते भगवान विश्वकर्मा में आस्था रखने वाले सभी जाति धर्म और वर्ग के करोड़ों लोगों के मन में जबरदस्त गुस्सा है। भगवान विश्वकर्मा संपूर्ण सनातन शास्त्रों में देवता के रूप में पूजित हैं। उन्हें महापुरुष कह कर सरकार द्वारा अपमानित किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने कहा विश्वकर्मा पूजा का अवकाश होने तक आंदोलन जारी रहेगा। यदि सरकार पूजा का अवकाश घोषित नहीं करती है तो आने वाले चुनाव में विश्वकर्मा समाज के लोग सबक सिखाने को तैयार बैठे हैं।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से श्रीकांत विश्वकर्मा, डॉ प्रमोद कुमार विश्वकर्मा, नंदलाल विश्वकर्मा, चंद्रशेखर विश्वकर्मा, सुरेश शर्मा एडवोकेट, रामलोचन विश्वकर्मा, दीनदयाल विश्वकर्मा, सरदार सतनाम सिंह, लक्ष्मेश्वर शर्मा, सुरेश विश्वकर्मा, महेंद्र विश्वकर्मा,संतोष विश्वकर्मा, नुरुल शेख मोहम्मद यासीन, राजेश सोनकर, संजय सोनकर, प्रदीप राज, गोपाल साहू, नारायण मास्टर, रवि शंकर चौबे, रवि कांत मिश्रा, बृजेंद्र विश्वकर्मा, डॉ मुनीर सिद्दीकी, विकास राज, विकी, कृष्ण मुरारी, जीउत विश्वकर्मा, श्रीमती श्याम सुंदरी पाठक, सोनी पाल बबीता विश्वकर्मा, सहित बड़ी संख्या में लोग शामिल थे।

Share.

Comments are closed.