बलुआ गंगा नदी में डूबने से किशोर की मौत के बाद पोस्टमार्टम को लेकर शनिवार की रात जिला अस्पताल में गहमागहमी रही। सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव ने सीएमओ पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए रात में अस्पताल के गेट पर धरना दिया।

डीएम के हस्तक्षेप के बाद रात में पोस्टमार्टम होने पर विधायक मानें और धरना समाप्त हुआ। इससे चिकित्सकों व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

खड़ान गांव निवासी अभिषेक यादव (16) शनिवार की शाम बलुआ में गंगा में नहाते वक्त डूब गया था। कुछ देर बाद उसका शव बरामद किया गया। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

हालांकि जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस पर शव पहुंचने पर चिकित्सकों ने रात के वक्त पोस्टमार्टम करने से इनकार कर दिया। मृतक के घरवालों ने सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव को सूचना दी। विधायक ने सीएमओ डाक्टर वीपी द्विवेदी से फोन पर बात की।

खड़ान गांव निवासी अभिषेक यादव (16) शनिवार की शाम बलुआ में गंगा में नहाते वक्त डूब गया था। कुछ देर बाद उसका शव बरामद किया गया। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

हालांकि जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस पर शव पहुंचने पर चिकित्सकों ने रात के वक्त पोस्टमार्टम करने से इनकार कर दिया। मृतक के घरवालों ने सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव को सूचना दी। विधायक ने सीएमओ डाक्टर वीपी द्विवेदी से फोन पर बात की।आरोप है कि सीएमओ ने सही ढंग से बात नहीं की।

इससे नाराज विधायक समर्थकों के साथ जिला अस्पताल पहुंच गए और गेट पर धरने पर बैठ गए। इससे खलबली मच गई। सूचना के बाद कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। कोतवाल अशोक मिश्रा ने समझाने का काफी प्रयास किया, लेकिन विधायक व समर्थक नहीं मानें।

जिलाधिकारी संजीव सिंह के हस्तक्षेप के बाद रात में ही शव का पोस्टमार्टम किया गया। इसके बाद सपाई मानें और धरना समाप्त हुआ।

Share.

Comments are closed.