प्रधानमंत्री आवास योजना का नहीं मिल रहा है लाभ

महमूदाबाद सीतापुर जहां पर प्रधानमंत्री जी हर कच्चे मकान या जिनके पास रहने को घर नहीं है उनको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास वितरण किए जा रहे हैंं। प्रधानमंत्री जी का सपना है कि उत्तर प्रदेश में ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में कोई भी मकान कच्चा या बांस बल्ली वाला न रह जाए.

वहीं एक तरफ प्रधान व सेक्रेटरी की मिलीभगत से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कच्चे मकानों व पात्रों को बनाया जा रहा अपात्र.

प्रधानमंत्री आवास योजना चढ़ रही भ्रष्टाचार की भेंट ऐसा ही एक मामला तहसील महमूदाबाद ग्राम लोधासा का है जहां पर मनोहर लाल पुत्र बच्चू लाल का आवास पूरा मिट्टी से बना हुआ है जो बहुत ही जर्जर है किसी भी समय हो सकता है बहुत बड़ा हादसा.

लेकिन ग्राम प्रधान मीरा देवी व प्रधान प्रतिनिधि और सेक्रेटरी पंकज वर्मा की मिलीभगत से मनोहर लाल को बनाया जा रहा अपात्र दिनांक 6 अगस्त 2021 को मनोहर लाल ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर आवास की मांग की थी जिसका प्रार्थना पत्र संख्या-92115400055683 है जिसमें खंड विकास अधिकारी द्वारा सेक्रेटरी पंकज वर्मा से जांच के आदेश दिये गए सेक्रेटरी पंकज वर्मा बिना जांच किए ही रिपोर्ट में मनोहर लाल को अपात्र बताया और यह भी कहा की मनोहर लाल पक्के आवास में निवास करते हैं जबकि मनोहर लाल केे आवास की मीडिया के द्वारा तहकीकात व जांच कराई गई तो मनोहर लाल जिस आवास में निवास करते हैं वह पूरी तरह से कच्चा व जर्जर बना हुआ है.

जब मनोहर लाल सेेे जानकारी ली गई तो मनोहर लाल ने बताया यहां पर सेक्रेटरी द्वारा किसी भी प्रकार की जांच नहीं की गई है तथा प्रधान प्रतिनिधि सुनेरी लाल से जब इस प्रकरण की जानकारी ली गई प्रधान प्रतिनिधि ने भी जानकारी दी,

कि यहां पर सेक्रेटरी ने किसी प्रकार की जांच नहीं की है न ही मुझे कोई जानकारी दी है इस पर सेक्रेटरी पंकज वर्मा से बात की गई तो सेक्रेटरी पंकज वर्मा ने बताया की प्रधान प्रतिनिधि के बिना मैं कोई जांच नहीं करता हूं मैंने उनकी ही जानकारी में जांच की है और उन्होंने मनोहर लाल का पक्का आवास बताया है.

इसी के आधार पर खंड विकास अधिकारी ने जांच आख्या में मनोहर लाल को अपात्र बताया है जबकि मनोहर लाल का बड़ा पुत्र जो विवाहित है उसने अपनी धनराशि से पक्का आवास बनाया है और वह मनोहर लाल से अलग रहता है जिससे मनोहर लाल को किसी प्रकार का मतलब व सरोकार नहीं है.

मनोहर लाल कच्चे मकान में ही निवास करते हैं प्रधान प्रतिनिधि के जानकारी के अनुसार कई वर्षों से मनोहर लाल इसी कच्चे आवाज में निवास करते हैं अब मामला साफ नजर आता है की प्रधान प्रतिनिधि व सेक्रेटरी पंकज वर्मा की मिलीभगत से मनोहर लाल के साथ एक घिनौना खेेेल खेला जा है.

पात्र को अपात्र बनाया जा रहा है बरसात केेे मौसम में अगर यह कच्चा मकान गिरने से कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है इसकी जिम्मेदारी है क्या ग्राम प्रधान प्रतिनिधि व सेक्रेटरी पंकज वर्मा की होगी इस प्रकरण की विस्तार से जांच होनी चाहिए अगर इसी तरह यह गंदा घिनौना खेल चलता रहा तो प्रधानमंत्री जी का सपना अधूरा रह जाएगा.

सरकार अपने देश की उन्नति के लिए बहुत अच्छी अच्छी योजनाएं देती हैं लेकिन ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों की वजह से लाभार्थियों को लाभ नहीं मिल रहा है।

Share.

Comments are closed.