दिल्ली के संगम विहार की सैफी समाज की बेटी साबिया को जिस प्रकार से दुनिया से विदा कर दिया। उसके बाद उस पूरे क्षेत्र में उबाल आ गया है।

कई संस्थाएं आगे आई है जिसको लेकर दिल्ली में आंदोलन किया जा रहा है। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी वहां गए थे। कहा जा रहा है कि पुलिस छानबिन कर रही है लेकिन अभी तक कोई पुख्ता जानकारी हासिल नहीं हुआ है।

साबिया की हत्या करने वाला एक युवक जो उसका कथित तौर पर पति बताता है उससे मिलने के लिए पुलिस ने साबिया के परिवार वालों को मिलने की इजाजत दी है यह खबर है। साबिया की मां अब भी बेसूध है।

साबिया सिविल डिफेंस में काम करती थी। दिल्ली में सिविल डिफेंस को कई क्षेत्रों में लगाया गया है जो नागरिकों को अनुशासन की तरकिबें बताता है। और वही सिविल डिफेंस की लड़की साजिस की शिकार हो गई है।

साबिया के चचेरे भाई ने कहा है कि यह मामले को दबाया जा रहा है। इतने दिनों में तो सारे सबूत ही मिटा दिए गए होंगे। आखिर कैसे इंसाफ मिलेगा।

साबिया के मामले को लेकर कई संस्थाएं आगे आई हैं जिसमें मांग की जा रही है कि साबिया के परिवार को 1 करोड़ की सहायता राशि दी जाए।

आखिर वही साबिया ही परिवार का खर्च वहन करती थी। बहरहाल जिस प्रकार से दिल्ली में इस तरह की घटनाएं हुई है इससे एक बार फिर सवाल खड़े हो रहे हैं कि महिलाएं कितनी सुरक्षित हैं.

संगम विहार में सैफी समाज की बेटी साबिया सैफी की हत्या पर केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए जाकिर नगर आरडब्ल्यूए वेस्ट के अध्यक्ष और आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता शकील अहमद सैफी ने कहा है कि जिस तरह का माहौल लिंचिंग की घटनाओं के बाद पैदा किया गया है उससे दरिंदों के हौसले पूरी तरह से बुलंद है और वह इस तरह की घिनौनी हरकत अंजाम दे रहे हैं.

Share.

Comments are closed.