यूपी में डेंगू-बुखार का केंद्र बने फिरोजाबाद जिले से राहत की खबर नहीं है। 100 बेड वाले अस्पताल में 380 बच्चों के भर्ती होने की खबर के बाद प्रशासन जागा है।

अस्पताल में 100 बेड बढ़ाए गए हैं। अब तक बुखार से 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें ज्यादातर बच्चे हैं। वहीं शहर में जगह-जगह फैली गंदगी की तरफ भी अब प्रशासन का ध्यान गया है।

100 शैया अस्पताल में बढ़ाए गए 100 बेड

फिरोजाबाद के 100 शैया मातृ एवं शिशि चिकित्सालय में 100 अतिरिक्त बेड बढ़ाए गए हैं। बताया जा रहा है कि यहां तकरीबन 400 बच्चे भर्ती हैं। इस बीच प्रमुख सचिव (चिकित्सा शिक्षा) आलोक कुमार फिरोजाबाद में डेरा डाले हुए हैं।

उन्होंने 100 शैया अस्पताल का निरीक्षण किया। इन सबके बीच फिलहाल बीमारी पर लगाम नहीं लग पाई है। वहीं खून की जांच के लिए भी मारामारी के हालात हैं और घंटोें लाइन में लगने के बाद जांच हो पा रही है।

शहर के कई इलाकों में गंदगी फैली हुई है। कीचड़ है और जगह-जगह पर पानी भरा हुआ है। इन इलाकों में वायरल बुखार और डेंगू के मामले सबसे ज्यादा आ रहे हैं। ऐसे में अब प्रशासन की नींद खुली है।

डेंगू और वायरल बुखार से प्रभावित फिरोजाबाद के कई इलाकों में सैनिटाइजेशन का काम चल पड़ा है। नगर क्षेत्र में गंदगी को लेकर गुरुवार और शुक्रवार को गुस्साए क्षेत्रीय नागरिकों ने जाम लगाकर प्रदर्शन भी किया।

Share.

Comments are closed.