प्रधानमंत्री का संसदीय क्षेत्र वाराणसी पर्यटन के क्षेत्र में रोज नए आयाम कायम कर रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने काशी के गंगा में चलने वाली क्रूज़ का दायरा बढ़ा दिया है। अब ये क्रूज़ काशी से मिर्ज़ापुर जिले तक जाएगी।

पर्यटकों को चुनार का किला भी दिखाएगी और शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर के दर्शन भी कराएगी। लाइव म्यूजिक और बनारसी खान-पान के साथ गंगा की लहरों पर क्रूज़ का आनंद ले सकते है। क्रूज़ पर शादी ,सत्संग ,पार्टी और कांफ्रेंस भी किया जा सकता है।

गंगा की लहरों पर अब रो-रो बोट (रोल-आन-रोल-आफ पैसेंजर शिप) सैम माणिक शाह क्रूज़ पर्यटकों को काशी से मिर्ज़ापुर तक की सैर कराएगी । साथ ही शूलटंकेश्वर मंदिर में भी दर्शन कराएगी। 5 सितम्बर से शुरू होने वाली क्रूज़ वाराणसी के रविदास घाट से सुबह 9 बजे चलेगी और करीब डेढ़ घंटे में प्राचीन शूलटंकेश्‍वर महादेव मंदिर पहुंच जाएगी, जहां प्राचीन और धार्मिक मान्यता वाले गंगा किनारे स्थापित शूलटंकेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन कराएगी।

यहाँ से करीब 3 से 4 घंटे में मिर्जापुर जिले पहुंचकर वहां के ऐतिहासिक चुनार के किले का भ्रमण कराएगी। आठ घंटे की यात्रा सुबह 9 बजे रविदास घाट से शुरू होगी। शाम छह बजे तक क्रूज पर्यटकों को लेकर वापस काशी पहुंच जाएगा।

अलकनन्दा क्रूज़ लाइन के डायरेक्टर विकास मालवीय ने बताया कि क्रूज़ में सिर्फ आपको आना है। क्रूज़ में मनोरंजन और बनारसी खान पान का पूरा इंतज़ाम अलकनंदा की ओर से रहेगा। सुबह नाश्ते से लेकर ,दोपहर का खाना और शाम का नास्ता भी रहेगा।

लाइव म्यूजिक का आनंद लेते हुए आप 140 किलोमीटर की गंगा यात्रा में धार्मिक दर्शन भी होगा, वही पर्यटक भारत की समृद्ध विरासत वाली ऐतिहासिक किला भी देखेंगे। साथ में अनुभवी टूरिस्ट गाइड की टीम भी होगी, जो इस यात्रा के धार्मिक ,आध्यात्मिक और ऐतिहासिक पहलुओं की जानकारी भी देंगे।

सभी अत्याधुनिक सुविधाओं समेत ये यात्रा प्रति व्यक्ति महज़ 3000 रूपये में होगी । और 10 लोगो का टिकट एक साथ लेते है तो दो लोगों का टिकट मुफ्त होगा। आने वाले समय में क्रूज पर कैथी स्थिति मार्कंडेय महादेव मंदिर तक भी पर्यटकों जा सकेंगे। नार्थ इंडिया की ये अपनी तरह की पहली पर्यटन की सेवा होगी।

उन्होंने बताया कि 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से चलने वाले इस क्रूज़ में दो फ्लोर है। इसमें करीब 250 लोग बैठ सकते है। क्रूज़ पूरी तरह वातानुकूलित है। सुरक्षा की दृष्टि से ये क्रूज़ अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप है और सुरक्षा के सभी उपकरणों से लैस है।

विकास मालवीय ने बताया कि अभी क्रूज़ हर रविवार को उपलब्ध होगी। पर्यटकों के रिस्पांस को देखते हुए क्रूज का फेरा बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने बताया की क्रूज़ में शादी या दूसरे मांगलिक कार्यकर्मो के साथ सत्संग आदि के कार्यक्रम भी किए जा सकते है। बिज़नेस मीटिंग और कांफ्रेंस की भी सुविधा क्रूज़ में है।

Share.

Comments are closed.