उत्तर प्रदेश के आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद समेत छह जिलों में रहस्यमयी वायरल का कहर जारी है। 24 घंटों के अंदर सिर्फ फिरोजाबाद जिले में 12 और बच्चों की मौत हो गई। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में तेज वायरल बुखार ने पिछले एक सप्ताह के अंदर 40 बच्चों सहित 68 लोगों की जान ले ली है।

प्रियंका गाँधी ने सोमवार को इस मुद्दे पर एक ट्वीट किया। उन्‍होंने लिखा, ‘फिरोजाबाद, मथुरा, आगरा व उप्र की अन्य जगहों पर बुखार से बच्चों समेत तमाम लोगों की मृत्यु की खबर दुखदाई है यूपी सरकार को तुरंत प्रभाव से स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को चाकचौबंद कर इस बीमारी के रोकथाम के प्रयास करने चाहिए। बीमारी से प्रभावित लोगों के बेहतर इलाज की भी व्यवस्था की जाए।’

गौरतलब है बारिश के मौसम में राज्‍य में मलेरिया और डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं। फिरोजाबाद जिले में ही करीब एक सप्‍ताह में बुखार के कारण करीब 40 लोगों की मौत की सूचना है। यहां के विधायक ने दावा किया कि पिछले करीब एक सप्ताह के दौरान अब तक इस बुखार से 41 लोगों की मौत हुई है।

सदर विधायक मनीष असीजा ने रविवार को बताया कि इसके अलावा कई लोग गंभीर स्थिति में हैं। उन्होंने बताया कि वह प्रभावित क्षेत्र ऐलान नगर, करबला, महादेवनगर व अन्य स्थानों पर मेडिकल कैंप लगाने के साथ ही लगातार दौरा कर रहे हैं और स्वास्थ्य महकमे को डेंगू से प्रभावित लोगों के उपचार में कोई लापरवाही न बरतने का निर्देश दिया।

घरों और प्राइवेट अस्पतालों में मरने वालों के आंकड़े नहीं

ग्रामीण इलाकों में स्थिति बुरी तरह प्रभावित होने के कारण कई मरीजों को आगरा और अन्य शहरों में ट्रांसफर किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें भी दवा लेकर ग्रामीणों तक पहुंच रही हैं। लेकिन, ग्रामीण क्षेत्रों में निजी अस्पतालों और घर पर मरने वालों का कोई रेकॉर्ड नहीं है।

डेंगू जैसे लक्षण

फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज में स्थिति विकट है जहां 135 में से 72 बच्चे जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि उनमें से 50 फीसदी से अधिक में डेंगू के लक्षण हैं। अन्य मामलों में भी यही देखा गया। इस वायरल के लक्षण डेंगू जैसे हैं।

102 से ऊपर आ रहा बुखार

यह अजीब वायरल ऐसा है कि मरीजों को तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है। उन्हें तेज बुखार आ रहा है। बुखार इतना तेज होता है कि यह 102 डिग्री से ऊपर चढ़ रहा है। एक बार बुखार आने के बाद यह बढ़ता ही जा रहा है।

डीहाइड्रेशन और प्लेटलेट्स काउंट कम होना

इस वायरल में लोगों की डीहाइड्रेशन से भी मौत हो रही है। मरीजों का गलता सूखता है। डॉक्टरों की मानें तेज बुखार के कारण ही डीहाइड्रेशन हो रहा है। अधिकांश मरने वालों में बच्चे हैं। उनके शरीर में पानी की कमी हो रही है।

इसके अलावा प्लेटलेट्स कम हो रहे हैं। इलाज के दौरान प्लेटलेट्स नहीं बढ़ पा रहे और मरीज दम तोड़ रहे हैं। कई मामलों में तो प्लेटलेट्स चढ़ाए गए लेकिन फिर भी शरीर में नहीं बढ़े।

Share.

Comments are closed.