बागपत SP ऑफिस पहुंची महिला ने अपने ऊपर पेट्रोल उड़ेलकर आत्मदाह करने का प्रयाश किया. महिला जब पेट्रोल डाल रही थी तो मौके पर मौजूद अन्य लोगों और पुलिस ने उसके हाथ से बोतल छीन ली, जिससे महिला की जान बच गई।

जिसके बाद स्थानीय पुलिस ने महिला की समस्या सुनी और उसको समझा बुझाकर शांत किया. महिला का आरोप है कि उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म (Rape) हुआ था, जिसमें पुलिस ने एक आरोपी को जेल भेज दिया है. जबकि अन्य आरोपी फरार हैं।

महिला का आरोप है कि फरार आरोपी और उनके परिजन पीड़ित पक्ष पर फैसले का दबाव बना रहे हैं और फैसला न करने की स्तिथि में झूठे मुकदमे में फसाने की धमकी दे रहे हैं।

जिसकी शिकायत पीड़ित महिला और परिजनों ने पुलिस से की तो बिनोली पुलिस ने मामले को टाल दिया. उसी से परेशान महिला शनिवार को परिजनों के साथ SP ऑफिस पहुचीं और आत्महत्या करने का प्रयाश किया।

19 दिन पहले हुई थी रेप की घटना
महिला बिनौली थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है, जिसकी बेटी के साथ बीती 9 तारीख को पड़ोसी युवकों द्वारा दुष्कर्म का आरोप लगा था, जिसमें पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. जबकि मामले में अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं।

पीड़ित महिला का आरोप है कि गिरफ्तार हुए आरोपी के परिजन और फरार आरोपी उन पर फैसले का दबाव बना रहे हैं. फैसला न करने पर जान से मारने की धमकी और फर्जी मुकदमे में फंसाने की बात कही जा रही है।

जिसकी शिकायत उन्होंने बिनौली थाना पुलिस से की लेकिन पुलिस ने मामले में सुनवाई नहीं की. कार्रवाई न होने से परेशान और आरोपियों के डर से सहमी महिला SP ऑफिस पहुंची और उसने आत्मघाती कदम उठाया।

Share.

Comments are closed.