महानगर के थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र निवासी एक युवती घर से बाहर कूड़ा डालने निकली तो पड़ोसी के युवक ने छेड़छाड़ कर दी। युवती ने घर जाकर यह जानकारी अपने पिता को दी।

पिता जब विरोध जताने आरोपी युवक के घर पहुंचा तो उस पर युवक के परिजनों ने तलवार से हमला कर दिया। जिसमें पीड़ित व्यक्ति बुरी तरह से घायल हो गया।

पीड़ित ने जान बचाने के लिए तेजी से आसपास के लोगों को आवाज लगाई जिसके बाद आसपास के लोगों ने हमलावर युवकों से उनको बचाया। पीडि़ता ने थाने में तहरीर दी है।

तहरीर देने के बाद युवती से थाने में पुलिसकर्मियों ने कहा कि जब आरोपित दिखें तो बता देना,हम पकड़ लेंगे। घायल का कहना है कि आरोपित नशे का सामान बेचते हैं। तब भी पुलिस कार्रवाई नहीं करती।

वहीं एक दूसरी घटना में इसी थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला ने बताया कि वह घर से बाहर किसी काम से गई थी। घर में उसकी तीन नाबालिग बेटियां थी।

तभी पड़ोसी युवक अपने साले के साथ घर में घुस गया और उनसे छेड़छाड़ की। विरोध करने पर पिटाई कर दी। आसपास के लोग दौड़े तो आरोपित भाग गए। 

एक तरफ सरकार का कहना है कि वह आधी आबादी को भयमुक्त माहौल दे रही है। वहीं दूसरी ओर इस तरह की घटनाएं तो यहीं बता रही हैं कि आधी आबादी ना तो घर में सुरक्षित है और ना ही बाहर।

घर से बाहर कूड़ा डालने गई युवती से पड़ोसियों ने छेड़छाड़ कर दी। पिता ने विरोध किया तो तलवार से हमला कर दिया। वहीं, पड़ोसी ने साले के साथ मिलकर किशोरी से छेड़छाड़ की तो दूसरी ओर महिला के घर में घुसकर कपड़े फाड़ दिए। पीडि़तों ने तहरीर दे दी है।

वहीं एक अन्य घटना में लिसाड़ी गेट निवासी महिला ने बताया कि उसका पति गाजियाबाद में काम करता है। पड़ोसी युवक उस पर गलत नजर रखते हैं। जब वह घर में थी, तभी पड़ोसी युवक आ गया और छेड़छाड़ करने लगा।

विरोध करने पर पिटाई कर दी। उसके कपड़े भी फाड़ दिए। शोर मचाने पर वह भाग गया। पीडि़ता ने तहरीर दे दी है। वहीं, थाना प्रभारी ने बताया कि तहरीर के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Share.

Comments are closed.