सुशांत गोल्फ सिटी स्थित ओमेक्स सिटी की छठी मंजिल से रक्षाबंधन की रात गिरे तीन साल के मासूम श्रेयांश उर्फ शीटू के मामले में उसकी मां ने अपनी बहन के देवर पर नशे में धुत होकर फेंकने का आरोप लगाया है।

पुलिस ने तीन दिन बाद हत्या का केस दर्ज कर लिया है। पुलिस सोसाइटी में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाल रही है।

एसीपी गोसाईंगंज स्वाति चौधरी के मुताबिक, गोमतीनगर विकासखंड-5 निवासी प्रियांशा द्विवेदी का उनके पति से पारिवारिक विवाद चल रहा है।

प्रियांशा ने सुशांत गोल्फ सिटी थाने में तहरीर दी जिसके मुताबिक पति से विवाद के बाद चार महीने से वह अपनी बहन स्वाति के साथ रहती है। 22 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन स्वाति के घर डी-ओमेक्स सिटी निवासी बड़ी बहन सोनल पांडेय अपने परिवार के साथ राखी बंधवाने आई थी।

उन्हीं के साथ प्रियांशा का तीन साल का बेटा श्रेयांश उर्फ शीटू ओमेक्स सिटी चला गया। आरोप है कि ओमेक्स सिटी स्थित बड़ी बहन के आवास पर उनके देवर अयोध्या के चौक निवासी कुलदीप पांडेय भी आए थे।

रात करीब 9:30 बजे उनका बेटा बहन के बच्चों के साथ खेल रहा था। अचानक छठी मंजिल से उनका बेटा श्रेयांश नीचे गिर गया। उसे मेदांता अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई।

प्रियांशा का आरोप है कि रात को जब बच्चे खेल रहे थे। उस वक्त बहन सोनल पांडेय का देवर कुलदीप वहां शराब के नशे में धुत होकर पहुंचा। उसने श्रेयांश को जानबूझकर उठाया और छठी मंजिल की बालकनी से नीचे फेंक दिया जिससे श्रेयांश की मौत हो गई।

प्रियांशा का आरोप है कि कुलदीप ने हत्या की नीयत से ही उसे उठाकर फेंका था। प्रभारी निरीक्षक सुशांत गोल्फ सिटी विजयेंद्र सिंह के मुताबिक, पीड़िता की तहरीर पर कुलदीप के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है।

वहीं ओमेक्स सिटी में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है। साथ ही आरोपी की तलाश में पुलिस टीम संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है।

Share.

Comments are closed.