जागरण संवाददाता। राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर जिले में वायुसेना का मिग-21 बाइसन विमान बुधवार शाम को दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हादसे में पायलट सुरक्षित बच गया। पायलट ने विमान में गड़बड़ी की आशंका होते ही इजेक्ट कर लिया।

प्रशिक्षण उड़ान के दौरान यह हादसा हुआ। उड़ान भरने के कुछ देर बाद ही विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। गिरते हुए मिग-21 में आग लगने से अफरातफरी मच गई। अभी तक दुर्घटना के अधिकारिक कारणों का पता नहीं चल सका है।

पुलिस और जिला प्रशासन ने तकनीकी खराबी आने की बात कही है। वायुसेना ने विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने को लेकर कोर्ट आफ इन्क्वायरी के आदेश जारी किए हैं। विमान ने उत्तर लाई एयरबेस से उड़ान भरी और 35 किलोमीटर दूर करीब साढ़े पांच बजे मातासर गांव में खेत में गिर गया।

गिरते समय विमान में आग लग गई। जिस खेत में विमान गिरा, वहां बने कच्चे घर के कुछ हिस्से में आग लग गई। विमान गिरने के बाद आग की चिंगारी घर तक जाने के कारण आग लगने की बात सामने आई है।

बाड़मेर जिला पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड को मौके पर भेजा गया। ग्रामीणों ने भी पानी डालकर आग पर काबू पाने का प्रयास किया। वायुसेना और पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। जिला कलेक्टर लोकबंधु वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे।

उन्होंने बताया कि विमान क्रैश होने के बाद एक खेत में गिर गया। खेतों में काम कर रहे किसानों ने विमान को गिरते हुए देखा। किसानों ने पायलट को पानी पिलाया और जलते हुए विमान पर पानी भी डाला।

किसानों ने बताया कि विमान गिरने के बाद काफी तेज धमाके की आवाज हुई। ऐसे लगा कि जैसे बम फटा हो। उल्लेखनीय है कि मिग-21 दुर्घटनाग्रस्त होने की घटनाएं पहले भी कई बार सामने आई हैं।

Share.

Comments are closed.