मालदा – आर्थिक तंगी व कर्ज के बोझ के कारण एक बढ़ई ने कीटनाशक खाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान चित्तरंजन मंडल (62) के रूप में की गयी है।

वह गाजोल थाना क्षेत्र के पंचपाड़ा चित्रापल्ली इलाके का रहनेवाला था। स्थानीय लोगों ने घर से कुछ दूर बेहोशी के हालत में उसे पड़े देख उसके परिजनों को सूचना दी ।

परिवारवालों ने उसे तत्काल गाजोल प्राथमिक स्वास्थ्य लेकर गए जहां मंगलवार रात उसकी तबीयत बिगड़ने पर चिकित्सकों ने उसे मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल रेफर कर दिया।

बुधवार सुबह मालदा मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। परिवार के एक सदस्य ने बताया कि कोरोना काल में लॉक डाउन के बाद से उसकी कमाई रुक गई थी।

उसके लिए परिवार चलाना बेहद मुश्किल हो गया था। आर्थिक तंगी के कारण वह मानसिक तनाव से जूझ रहा था। आर्थिक तंगी के कारण उसने साहूकार से करीब 50 – 60 हजार रुपये का कर्ज ले लिया।

लॉक डाउन के कारण उसका कमाई बंद था इधर साहूकार उस पर कर्ज चुकाने का दबाव बना रहा था। इसलिए वह मानसिक रूप से टूट गया और उसने कीटनाशक खाकर आत्महत्या करने का रास्ता चुना।

Share.

Comments are closed.