राजधानी लखनऊ में प्रीपेड बिजली कनेक्शन के नाम पर आवेदकों की जेब ढ़िली की जा रही है। बिजली स्मार्ट मीटरों के मुकाबले नॉन मीटर वाले से 1 किलो वाट का घरेलू प्रीपेड कनेक्शन लेना 5,144 रुपये महंगा है। इसमें मीटर की कीमत के तौर पर 6016 रुपये उपभोक्तओं को जमा करना पड़ता है।

स्मार्ट मीटिंग मीटर से कनेक्शन के लिए लिया जाए तो मीटर के 872 ही पहले जमा करने पड़ते थे। जिसके बाद काफी विवादों के कारण 1 साल में स्मार्ट मीटर लगना बंद किए गए हैं।

वहीं नॉन स्मार्ट मीटर से 5 किलो वाट का प्रीपेड कनेक्शन लेने पर मीटर कीमत 11,341 उपभोक्तओं का जमा करना पड़ते हैं। जबकि स्मार्ट मीटर की कीमत 2921 है। साथ ही इसमें बिजलीधारकों के लिए प्रीपेड एवं पोस्टपेड और नेट मीटिरिंग की सहुलियत है।

कैसे होता है इनका इस्तेमाल
नॉनी स्मार्ट मीटर रिचार्ज कराने के लिए उपभोक्ता को एबीसी कोड लॉगिन करना पड़ता है। इस मीटर में 5 नंबर का अंक चार बार दबा कर आता है। और एक बार में 5 अंक आते हैं। साथ ही इसमें एक कोड 20 अंक का होता है।

बिजली उपभोक्ता अकाउंट आईडी एवं कोड के साथ काउंटर पर पेमेंट देकर रिचार्ज कराते हैं। वहां से मिले वाउचर में 20 से 60 अंक का कोड होता है। और यह सिस्टम में फीड होने पर बिजली मीटर रिचार्ज हो जाते हैं एक अन्य कंपनी का नॉन मीटर स्मार्ट भी एप्स और काउंटर पर रिचार्ज होते हैं।

कैसे रिचार्ज होते हैं ई-स्मार्ट प्रीपेड मीटर
इस बिजली स्मार्ट मीटर प्रीपेड को रिचार्ज कराने में ज्यादा उपभोक्तओं को परेशानी नहीं होती है। बिजली उपभोक्त सीधे अकाउंट आईडी और एडवांस में जितने रुपए से मीटर रिचार्ज कराना चाहते हैं।

बिलिंग काउंटर पर दें और एडवांस पैसा जमा होते ही मीटर रिचार्ज हो जाएगा। यह मीटर के प्रीपेड कनेक्शन का घर पर भी बिल आता है और मोबाइल पर मैसेज भी सिस्टम के माध्यम से आ जाता है।

Share.

Comments are closed.