कोरोना संक्रमण को देखते हुए पश्चिम बंगाल सरकार अफगानिस्तान से लौटकर लोगों को लेकर अतिरिक्त सतर्कता बरत रही है। राज्य स्वास्थ्य

विभाग के सूत्रों ने बताया है कि अब वहां से लौट रहे लोगों को एयरपोर्ट पर ही पोलियो का टीका लगाया जाएगा। एयरपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग

की अपनी टीम होगी राज्य सरकार ने स्वास्थ्य कर्मियों से अपील की है कि वे पोलियो से अफगानिस्तान लौटने वाले यात्रियों को टीका लगाने में

मदद करें। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी इस संबंध में हवाईअड्डा अधिकारियों से पहले ही चर्चा कर चुके हैं

अफगानिस्तान और पाकिस्तान दुनिया के एकमात्र ऐसे देश हैं जहां पोलियो अभी भी महामारी है। अफगानिस्तान और पाकिस्तान में पोलियो

टीकाकरण कार्यक्रम नहीं है इसलिए केंद्र सरकार ने पहले ही अफगानिस्तान में पोलियो से लौटने वालों को टीका लगाने के लिए कदम उठाए

हैं।

तालिबान के कब्जे के बाद कई भारतीय पहले ही अफगानिस्तान छोड़ कर स्वदेश लौट चुके हैं। काबुल से लौटने वाले अफगानों को दिल्ली

हवाई अड्डे पर पोलियो का टीका लगाया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांड्याविया ने सोमवार को ही ट्वीट किया, “अफगानिस्तान के

लोगों को पोलियो वायरस के खिलाफ एहतियात के तौर पर मुफ्त में टीकाकरण करने का निर्णय लिया गया है।”

अब राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने हवाई अड्डे पर अफगान यात्रियों के टवापसी की व्यवस्था टीकाकरण के लिए अधिकारियों की मदद मांगी है।

अफगानिस्तान से वहां के स्थानीय नागरिक दुनिया भर के देशों में जा रहे हैं। उनमें से कई पश्चिम बंगाल भी पहुंच रहे हैं। ये वे लोग हैं जो

कोलकाता और आसपास रहकर काबुली का व्यापार करने वालों के परिजन अथवा जानने पहचानने वाले हैं।

Share.

Comments are closed.