कोलकाता, 24 अगस्त l पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में स्थित मशहूर शक्तिपीठ कालीघाट के गर्भगृह में प्रवेश के लिए अब कोरोना

की दोनों डोज का लिया जाना अनिवार्य कर दिया गया है। मंदिर प्रबंधन ने बैठक कर यह निर्णय लिया है। मंगलवार को प्रबंधन सूत्रों ने बताया है

कि सोमवार देर रात प्रबंधन की उच्च स्तरीय बैठक हुई थी। इसी में निर्णय ले लिया गया था कि मंदिर के गर्भगृह में सेवादारों का प्रवेश तभी हो

सकेगा जब कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ली जाएगी। वह भी साधारण दर्शनार्थियों के लिए प्रवेश की अनुमति नहीं होगी बल्कि मंदिर से जुड़े

लोग ही गर्भगृह में प्रवेश कर पाएंगे। अलीपुर जिला अदालत की न्यायाधीश चैताली दास चटर्जी ने इस बैठक की अध्यक्षता की थी। उन्होंने

बताया कि मंदिर से जुड़े लोगों और भक्तों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ही यह निर्णय लिया गया है।

दरअसल कालीघाट मंदिर में कई लोग सेवार्थी के तौर पर रहते हैं जबकि कई पुरोहितों के साथ मिलकर पूजा पाठ में लगे रहते हैं। इन्हें भी गर्भ

गृह में प्रवेश के लिए दोनों डोज लगाना होगा। सुबह 6:00 से 12:00 बजे तक और शाम 4:00 से 6:00 बजे तक मंदिर खुलेगा जिस समय गर्भ

गृह में प्रवेश की अनुमति होगी।

Share.

Comments are closed.