आम आदमी पार्टी (AAP) के राज्यसभा सांसद और यूपी प्रभारी संजय सिंह ने एक बार फिर भ्रष्टाचार को लेकर सूबे की योगी सरकार पर निशाना साधा है। संजय सिंह ने आरोप लगाया है कि 2019 में हुए प्रयागराज कुम्भ (Prayagraj Kumbh) भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया।

उन्होंने कैग रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि कुम्भ में 2700 करोड़ का महाघोटाला हुआ, जो कि बिहार के चारा घोटाला से भी बड़ा है। इतना ही नहीं आप सांसद ने कहा कि यह घोटाला योगी सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो पालिसी की पोल भी खोलता है।

संजय सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा कि यह आरोप उनकी पार्टी नहीं बल्कि सरकारी ऑडिट रिपोर्ट में है। उन्होंने कैग रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि कुंभ के नाम पर जो 32 ट्रैक्टर की खरीद हुई, वास्तव में वे मोपेड और स्कूटर के नंबर दर्ज हैं।

संजय सिंह ने कहा कि इसका मतलब यह है कि कुंभ के दौरान अधिकारियों ने मोपेड और स्कूटर से ही कूड़े की ढुलाई करा दी और इस पर 33.50 लाख रुपए खर्च कर दिए।

कार्रवाई की मांग
संजय सिंह ने आगे कहा कि कैग रिपोर्ट में यह बात भी सामने आई है कि कुम्भ मेले के लिए उपकरणों की राज्य आपदा राहत कोष की राशि में से गृह विभाग को 65.87 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था।

जबकि इस कोष का उपयोग सिर्फ आपदा पीड़ितों के लिए होता है. रिपोर्ट में कहा गया है कि बिना स्वीकृति के इस राशि का दूसरे मद में प्रयोग किया गया. उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पूरे मामले में जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की है।

Share.

Comments are closed.