जनपद सीतापुर कसबा खैराबाद के नौजवान उभरते शायर शायर इरफान खैराबादी ने नेटीजन न्यूज़ से की खास बातचीत

जिसमें इरफान खैराबादी से किए गए कुछ सवाल जिस पर इरफान खैराबादी ने उर्दू अदब पर रोशनी डाली और यह साबित किया कि यह जुबान अरबी फारसी हिंदी से बनाई गई.

इसलिए इसे उर्दू कहा गया उर्दू के माने हैं लश्कर के आपने मिर्जा गालिब की फारसी शायरी पर भी बयान किया.

अल्लामा फजले हक खैराबादी गालिब के हम अर्स थे अल्लामा ने गालिब को फारसी में शेर कहने से रोक-टोक की और उर्दू में शेर कहने का मशवरा दिया.

ब्यूरो चीफ असमारुल हक़ जिला सीतापुर

Share.

Comments are closed.