बिहार में जाति जनगणना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली पहुंच गए है।

इस बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे इस बैठक में राज्य के राजनीतिक दलों के एक-एक प्रतिनिधि शामिल होंगे।

इसके अलावा बैठक में उनके साथ शामिल होने वालों में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी मौजूद रहेंगे।

दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को कहा, “हम (विभिन्न दलों के प्रतिनिधियों का एक प्रतिनिधिमंडल) जाति आधारित जनगणना की अपनी मांग के साथ कल सुबह 11 बजे पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे,

दरअसल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जाति आधारित जनगणना को लेकर बिहार के राजनीतिक दलों की के नेताओं की बैठक बुलाई है. इसमें नीतीश कुमार के साथ उनके विरोधी तेजस्वी यादव भी शामिल होंगे।

जाति जनगणना की मांग पिछले महीने संसद में केंद्र के एक बयान से शुरू हुई थी। जिसमें केवल अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) की आबादी की गणना का प्रस्ताव किया गया था।

बिहार जैसे राज्यों में, जहां मंडल युग से ओबीसी का राजनीति में वर्चस्व रहा है।

यहां पिछड़े वर्गों को ध्यान में रखते हुए जातिगत जनगणना की जोरदार मांग हो रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बार-बार जातिगत जनगणना कराने की वकालत करते रहे हैं. इसी को लेकर वह प्रधानमंत्री के साथ बैठक में हिस्सा लेने दिल्ली पहुंच गए हैं।

Share.

Comments are closed.