अफगानिस्तान पर तालिबानी हुकूमत क्या काबिज हुई इसका असर यहां देश के ड्राईफ्रूट के शौकीनों पर पड़ रहा है। अफगानिस्तान में सरकार पलटने के बाद से ड्राईफ्रूट का बाजार ने तेजी पकड़ी है।

हालात यह है कि 24 घंटे के भीतर ही जो खसखस 400 रुपये किलो बिक रही थी वह 1700 रुपये किलो तक पहुंच गई। कुछ ऐसा ही पेशावरी पिस्ता का भी हाल है। पेशावरी पिस्ता के दाम भी 400 रुपये तक बढ गए हैं।

छुहारा के दाम भी तेवर दिखा रहे हैं। बादाम जो कि 600-700 रुपये किलो बिक रहा था वह अब 1000-1100 रुपये किलो तक पहुंच गया है। कुछ ऐसा ही हाल अन्य मावों का है।  

अफगानिस्तान के हालात का असर मेरठ  के बाजार पर भी पड़ा है। इसका सबसे अधिक असर मेरठ में ड्राईफ्रूट के बाजार पर पडा है। सिर्फ मेरठ ही नहीं देश के अन्य महानगर के बाजारों पर भी इसका असर है।

हालात यह हैं कि ड्राईफ्रूट की पर्याप्त सप्लाई तक नहीं हो पा रही है। जबकि जो ड्राईफ्रूट पहले के बाजार में मौजूद हैं, अचानक के उसके दामों में उछाल आ गया है।

मुरबंदी गिरी (बादाम) के दाम में एक सप्ताह के भीतर करीब 300 रुपए तक का उछाल आयाााा है। जिससे लोगों को त्योहारी मौसम में महंगाई का तगड़ा झटका लगा है।

कोरोनाकाल से कारण कमजोर पड़े मेरठ के ड्राईफ्रूट बाजार पर अब अफगानिस्तान के हालातों का भी असर पड़ा है। त्यौहार मौसम में मेरठ के बाजार में ड्राईफ्रूट्स महंगे होने के साथ आसानी से उपलब्ध हो पाना आने वाले दिनों में मुश्किल आ सकती है।

व्यापारियों के अनुसार मेरठ में अधिकतर ड्राईफ्रूट्स की सप्लाई अफगानिस्तान से हुआ करती है। लेकिन आजकल अफगानिस्तान के हालत से सभी वाकिफ हैं। ऐसे में अब ड्राईफ्रूटक की आवक कम होने लगी है।

जिस कारण पुराने स्टॉक के मेवे भी महंगे होने लगे हैं। सदर बाजार में 60 वर्षो से ड्राईफ्रूट्स का कारोबार कर रहे नरेंद्र कुमार बताते हैं कि बाजार में अब 40-50 प्रतिशत तक ही कारोबार रह गया है।

जबकि त्योहारी मौसम सामने है। उनका कहना है कि आने वाले समय में ड्राईफ्रूट्स की सप्लाई हो पाएगी या नहीं, इस पर भी संशय बना हुआ है। लगातार सप्लाई में शॉर्टेज बनते जा रही है।

गत सप्ताह तक जहां मुरबंदी गिरी (बादामम)के दाम 900 रुपए प्रति किलो बिका करता था, अब उनके दाम 1200 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए हैं। ऐसे ही हाल अंजीर का भी है।

जो 800 से लेकर 1200 रुपए तक पहुंच गया है। कंधार की किशमिश और खुमानी की तो सप्लाई तक नहीं हो पा रही है।

Share.

Comments are closed.