जनपद मुजफ्फरनगर में एक बार फिर शहर को जाम और अतिक्रमण से मुक्त कराने के लिए प्रशासन ने योजना बनाई है। पूरे शहर को तीन सेक्टरों नई मंडी, सिविल लाइन और शहर कोतवाली क्षेत्र में बांट कर तीन एसडीएम नोडल अधिकारी बनाए गए है।

सभी एसडीएम के नेतृत्व में चार अफसरों की टीमें गठित की जाएगी, जो अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाएगी। सोमवार से इस अभियान की शुरुआत की जाएगी। सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह और सीओ सिटी कुलदीप कुमार पर्यवेक्षक बनाए गए है।

नई मंडी में भोपा रोड, जानसठ रोड, रेवले ओवरब्रिज, वकील रोड, शहर में महावीर चौक, शिव चौक, प्रकाश चौक, अस्पताल तिराहा, मालवीय चौक, झांसी रानी चौक, भगत सिंह रोड, रुड़की रोड, मीनाक्षी चौक, अंसारी रोड आदि स्थानों पर जाम लगता है।
नई मंडी में डिप्टी कलेक्टर पुष्कर चौधरी, कोतवाली क्षेत्र में डिप्टी कलेक्टर मनोज कुमार, सिविल लाइन क्षेत्र में डिप्टी कलेक्टर अशोक कुमार नोडल अधिकारी बनाए गए है।

इनके नेतृत्व में चार अधिकारी रहेगे, जिनमें संबंधित थानों के इंस्पेक्टर, नगर पालिका के ईओ, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, कर निर्धारण अधिकारी और लोक निर्माण विभगा का एक अधिकारी शामिल रहेगा। सभी टीमों को संसाधन और नगर पालिका की टीम ईओ उपलब्ध कराएंगे।

प्रशासन की ओर से पहले भी शहर को अतिक्रमण और जाम से मुक्त करने के लिए कार्ययोजनाएं बनाई गई थी। बीते चार साल में ई- रिक्शाओं का रुट निर्धारण, शहर के पार्किंग व्यवस्था, शहर में शिव चौक, झांसी रानी चौक, भगत सिंह रोड पर वन वे ट्रेफिक व्यवस्था बनाई गई थी, जो सफल नहीं हो सकी।

सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह ने बताया कि शनिवार (आज) को सभी अफसरों की बैठक बुलाई गई है, जिसमें सोमवार से चलने वाले अभियान कार्ययोजना बनाई जाएगी। एआरटीओ को भी मिटिंग में बुलाया गया है।

सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि सोमवार से अभियान चलेगा। जिस क्षेत्र में अभियान चलाया जाएगा। एक दिन पहले मुनादी कराई जाएगी। अतिक्रमण करने वालों पर जुर्माना किया जाएगा।

इसके बाद भी अतिक्रमण किया तो नगर पालिका की ओर से संबंधित लोगो पर कड़ी कार्यवाही होगी वही बैठक में सीओ नई मंडी हिमांशु गौरव भी मोजूद रहे.

द नेटीजन न्यूज़ के लिए असलम राजा

Share.

Comments are closed.