दिल्ली पुलिस ने 8 अगस्त को जंतर-मंतर पर मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वाले कार्यक्रम के सिलसिले में हिंदू सेना नामक एक संगठन के प्रमुख सुशील तिवारी को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने कहा कि 40 वर्षीय सुशील तिवारी लखनऊ में रहते हैं. उन्हें दिल्ली लाए जाने से पहले शुक्रवार देर रात उनके घर से गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने कहा कि नारों के अलावा, उसने कथित तौर पर लोगों को कार्यक्रम के लिए लामबंद किया।

बता दें कि 8 अगस्त को दिल्ली के जंतर मंतर पर हुए हेट स्लोगन मामले में नई दिल्ली पुलिस की टीम ने सुशील तिवारी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है।

नई दिल्ली के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इस खबर की पुष्टि की है। आरोपी सुशील तिवारी को लखनऊ से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी लखनऊ में ट्रेवल एजेंट का काम करता है।

इस आरोपी ने अप्रैल महीने में भी किया था एक ऐसे ही कार्यक्रम के आयोजन की प्लानिंग लेकिन कोरोनकाल की वजह से उसे रद्द करना पड़ा था।

ये आरोपी सुशील तिवारी भारत जोड़ो आंदोलन नाम के एक आंदोलन से जुड़ते हुए जंतर-मंतर पहुंचा था। हेट स्लोगन करके फिर लौटकर लखनऊ से फरार हो गया था।

एक धर्म-सम्प्रदाय विशेष के खिलाफ कई आरोपियों द्वारा आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी। इसी मामले में BJP नेता और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील अश्विनी उपाध्याय को भी गिरफ्तार किया गया था।

दिल्ली पुलिस अधिकारी के मुताबिक, गिरफ्तारी के वक्त ये आरोपी इंकार कर रहा था। हेट स्लोगन से लेकिन जब पुलिस अधिकारी ने वीडियो दिखाया तब अपनी गलती को आरोपी ने स्वीकार किया है।

Share.

Comments are closed.