केद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने पंजाब नेशनल बैंक ऋण धोखाधड़ी के एक मामले में वर्षों से फरार एक निजी कंपनी की निदेशक को गिरफ्तार किया है।

सीबीआई सूत्रों ने शनिवार को बताया कि आरोपी आरती कालरा के संयुक्त अरब अमीरात से दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर शुक्रवार को पहुंचते ही गिरफ्तार कर लिया गया।

गिरफ्तारी के बाद महिला को सक्षम अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। उसका पति एवं सह आरोपी सन्नी कालरा पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है।

इस मामले में पति-पत्नी के अलावा बैंक के तीन अधिकारियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। आरोपियों में बैंक के तत्कालीन मुख्य प्रबंधक, प्रबंधक एवं अतरिक्त महाप्रबंधक शामिल हैं।

सूत्रों ने बताया कि मेसर्स ह्वाइट टाइगर स्टील्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की निदेशक आरती और उसके पति सन्नी कालरा पर पंजाब नेशनल बैंक के पुरानी दिल्ली के दरियागंज शाखा से वर्ष 2013 के अक्टूबर गलत तरीके से 10 लाख रुपये ऋण लेने और उसका भुगतान नहीं करने के आरोप हैं।

तय समय पर ऋण का ब्याज नहीं चुकाने के बाद बैंक ने इस मामले को गैर निष्पादित संपत्ति (एनपीए) की श्रेणी में डाल दिया था। सन्नी को सात मार्च 2020 को मसकट ओमान से गिरफ्तार कर भारत लाया गया था।

मामला प्रकाश में आने के बाद 12 दिसंबर 2015 को प्राथमिकी दर्ज की गई थी और तभी से दम्पति फरार थे। उनकी गिरफ्तारी के लिए 2016 में रेड कॉर्नर नोटिस तथा 22 दिसंबर 2016 को आरोप पत्र दाखिल किये गये थे।

Share.

Comments are closed.