बजरंग पुनिया की ओलिंपिक में जीत और कांस्य पदक हासिल करने पर उनके घर में जश्न का माहौल है। उनके पिता बलवान पुनिया ने कहा कि ये कांस्य पदक हमारे लिए गोल्ड से कम नहीं है।

चोट के बावजूद बजरंग पुनिया जीते हैं। उन्होंने कहा कि आज सुबह फ़ोन पर बजरंग से बात हुई। बजरंग से मैनें कहा कि तू बहुत अच्छा लड़ा। बजरंग कभी किसी टूर्नामेंट से खाली हाथ नहीं रहा है। अगर चोट नहीं लगी होती तो वह गोल्ड लेकर आता।

पीएम मोदी ने बजरंग पुनिया से बात की और कांस्य पदक जीतने पर बधाई दी। उन्होंने बजरंग के दृढ़ संकल्प और कड़ी मेहनत की सराहना की जिसके कारण यह उपलब्धि हासिल हुई है।

हरियाणा सरकार ने टोक्यो ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पहलवान बजरंग पुनिया को नकद इनाम और सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्ले-ऑफ में कजाकिस्तान के दौलेट नियाज़बेकोव को हराने के बाद ओलिंपिक में पदक जीतने के लिए बजरंग पुनिया को 2.5 करोड़ रुपये का नकद इनाम देने की घोषणा की।

बजरंग पुनिया ओलंपिक में पदक जीतने वाले छठे भारतीय पहलवान बन गए हैं, ओलिंपिक कुश्ती में देश को सातवां पदक मिला है। पुनिया को उनकी जीत के लिए बधाई देते हुए, मनोहरलाल खट्टर ने कहा कि उन्होंने न केवल पदक जीता बल्कि पूरे देश का दिल भी जीता. इससे पहले मनोहरलाल खट्टर ने मैच देखते हुए अपना फोटो ट्वीट किया था।

Share.

Comments are closed.