नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि हम लखनऊ को दिल्ली बनाएंगे। उन्होंने कहा कि लखनऊ के चारों तरफ से रास्ते बंद किए जाएंगे. जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं होंगे, हमारा आंदोलन वापस नहीं होगा।

राकेश टिकैत ने कहा, “हम किसानों के बीच जाएंगे. 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में बड़ी किसान पंचायत का आयोजन किया जाएगा. कैमरा और कलम पर पहरा लगाया जा रहा है. पूरे देश को कैप्चर करके रखा गया है। जब तक 3 कानून वापस नहीं होंगे, हमारा आंदोलन वापस नहीं होगा. हम लखनऊ को भी दिल्ली बनाने का काम करेंगे. लखनऊ के चारों तरफ रास्ते बंद करने का काम किया जाएगा.”

इसके साथ ही उन्होंने कहा, “यूपी आंदोलन का प्रदेश हैं. 4 साल से गन्ने का रेट नहीं बढ़ाया, 12 हज़ार करोड़ रुपये का अबतक बकाया है. योगी सरकार ने गन्ने में एक रुपये नहीं बढ़ाये. 7-8 राज्यों में किसान को बिजली फ्री है लेकिन यूपी में ऐसा नहीं है। गुजरात की सरकार को पुलिस चलाती है। कुछ ऐसा ही यूपी में भी होने वाला है जहां राज्य को पुलिस स्टेट बनाने की तैयारी है.”

वहीं योगेंद्र यादव ने कहा कि आज हमारे आंदोलन के 8 महीने पूरे हो रहे हैं. इस आंदोलन ने किसान का आत्म सम्मान वापस लौटाया है. किसान की राजनीतिक ताक़त का एहसास कराने के साथ साथ एकता बढ़ाई है। हमारे आंदोलन के बावजूद हमारी मांगें मानी नहीं गई हैं. आज हम अपने आंदोलन के विस्तार की घोषणा करने आये हैं। हम मिशन यूपी/उत्तराखंड की घोषणा कर रहे हैं।

Share.

Comments are closed.