जलपाईगुड़ी शहर के पास डेंगूयाझार चाय बागान के श्रमिकों ने उन्हें कई सरकारी परियोजनाओं का लाभ नहीं मिलने के आरोप लगाया है। सोमवार को चाय बागान में आयोजित गेट मीटिंग में चाय श्रमिकों ने ये बातें कही ।

सोमवार की सुबह तृणमूल श्रमिक संगठन की पहल पर जलपाईगुड़ी शहर के पास डेंगूयाझार चाय बागान में गेट मीटिंग का आयोजन किया गया। बैठक में जलपाईगुड़ी जिला तृणमूल एससी ,एसटी ओबीसी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष कृष्ण दास समेत स्थानीय नेता मौजूद थे . गेट मीटिंग में चाय

श्रमिकों ने कहा कि सरकार की कई परियोजनाओं का लाभ उन्हें नहीं मिल रहा है. गौरतलब है कि राज्य सरकार ने चाय बागान श्रमिकों के लिए चाय सुंदरी समेत कई परियोजनाएं शुरू की है.पर किसी अज्ञात कारण से डेंगूयाझार चाय बागान सहित कई बागानों के श्रमिकों को उन

परियोजनाओं से वंचित किया जा रहा है। आज की गेट मीटिंग में चाय बागान श्रमिकों ने ट्रेन यूनियन के नेताओं के समक्ष इस बात को लेकर अपना आक्रोश जताया। इतना ही नहीं इन श्रमिकों ने बागान प्रबंधन पर वेबजह उन्हें अनुपस्थित करने का भी आरोप लगाया। दूसरी ओर इस

बारे में बागान प्रबंधक ने कहा कि कंपनी के नियमानुसार श्रमिकों की उपस्थिति में कटौती की जा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि श्रमिकों को वह सुविधाएं मिलती हैं जो उन्हें देने योग्य हैं। हालांकि, बागान के वरिष्ठ प्रबंधक जीवन चंद्र पांडे ने आज की गेट मीटिंग में कई सरकारी

सुविधाओं के बारे में श्रमिकों द्वारा गेट मीटिंग में चर्चा करने को सराहनीय बताया। इस संबंध में तृणमूल नेता कृष्ण दास ने कहा कि वह राज्य सरकार की कई परियोजनाओं का लाभ बागान श्रमिकों को दिए जाने को लेकर जरूरत पड़ने पर जिलाधिकारी और जिला परिषद के अध्यक्ष

के साथ बैठक करेंगे. ताकि बागान श्रमिकों को राज्य सरकार की चाय सुंदरी परियोजना, राशन व्यवस्था आदि का पूरा लाभ मिल सके।

Share.

Comments are closed.