सोंचो जो कथित सवर्ण दलित के दाढ़ी मूंछ तक बर्दास्त नहीं कर सकता है वह आपको सामाजिक बराबरी पर कैसे बर्दास्त कर सकता है ? इंटरव्यू, और सरकारी उच्च पदों पर बैठे इन लोगो की जातिवादी सोंच का नतीजा है आज भी समाज में बराबरी के नाम पर बस चुनावी लुभावने वादें है।

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक दलित युवक का दाढ़ी मुंछ रखना कुछ युवकों को इस कदर नागवार गुजरा की उन लोगों ने नाई बुलाकर दलित युवक को जबरदस्ती पकड़कर उसकी मुछ दाढ़ी कटवा दी। इतना ही नहीं इस घटनाक्रम की वीडियो भी बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। मामले के बाद विवाद गहराने लगा है।

इस दौरान दलित युवक दबंगों से बार-बार दाढ़ी मूंछ न काटने के लिए कहता रहा, हाथ जोड़ता रहा, लेकिन राजपूत समाज के युवकों ने एक नहीं सुनी और उसकी दाढ़ी पर नाई से उस्तरा चलवा दिया। इस दौरान दबंग उसका वीडियो भी बनाते रहे। पीड़ित रजत का कहना है, कि वह इंसाफ के लिए लड़ेगा। रजत ने थाने में भी तहरीर दी है।

दलित युवक दबंगों से बार-बार दाढ़ी मूंछ न काटने के लिए कहता रहा, हाथ जोड़ता रहा, लेकिन राजपूत समाज के युवकों ने एक नहीं सुनी और उसकी दाढ़ी पर नाई से उस्तरा चलवा दिया। इस दौरान दबंग उसका वीडियो भी बनाते रहे….

मामला बड़गांव थाना क्षेत्र के गांव शिमलाना का है। यहां का निवासी दलित युवक रजत पुत्र महेन्द्र मूंछ दाढी रखने का शौकीन हैं। जो गांव के दूसरे पक्ष के कुछ ठाकुर बिरादरी के युवकों नागवार लगा। आरोप है कि बीते रविवार को दूसरे पक्ष के कुछ युवकों ने पकड़कर उसकी जबरदस्ती नाई से उसकी दाढ़ी मुंछ कटवा दी। आरोपियों ने इतना ही नहीं दाढी कटाने की वीडियो बनाकर वायरल कर दिया।

घटना की जानकारी सामने आने के बाद भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं में काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है। गुरुवार को भीम आर्मी के मंडल प्रभारी सहारनपुर प्रदीप गौतम एसएसपी (SSP) एस चिनप्पा से मिले और आरोपियों के खिलाफ एनएसए (NSA) लगाने की मांग की।

बताया जाता है कि कुछ साल पहले भी थाना बड़गांव के शब्बीरपुर में रविदास जयंती निकालने को लेकर काफी हंगामा हुआ था। जिसके बाद भीम आर्मी चर्चा में आई थी। अब बड़गांव के शिमलाना में एक दलित युवक रजत के इस मामले में दबंग लड़कों नीरज, सत्यम, मोहकम, संदीप गौतम ने नाई से जबरन दाढ़ी मूंछ कटवा दी। बताया जा रहा है कि युवक नशे में थे।

Share.

Comments are closed.