पेगासस जासूसी कांड को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोला है। ममता ने कहा कि नेताओं, पत्रकारों और जजों के फोन पेगासस स्पाईवेयर के जरिए ट्रैप किए गए, ये ठीक नहीं है। इस दौरान ममता ने आरोप लगाया कि ये सरकार ईंधन पर लिए जाने वाले टैक्स का पैसा पेगासस के लिए खर्च कर रही है जनता पर नहीं।

टीएमसी के कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि लोकतांत्रिक देश की जगह भारत को सर्विलांस स्टेट बनाना चाहती है बीजेपी। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश देश को बचाना है।

उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में देश ने गंगा में तैरती लाशें देखी हैं और प्रधानमंत्री कहते हैं, यूपी बेस्ट स्टेट है, शर्म आनी चाहिए। ऑक्सीजन की कमी के चलते बहुत लोगों की मौत हुई है और सरकार कहती है कि ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई है।

कोरोना की तीसरी लहर की भी कोई तैयारी केंद्र ने नहीं की है। साथ ही, ममता बनर्जी ने आगे कहा कि ये सरकार सेंट्रल एजेंसी का मिस यूज करती है। इस सरकार को अपने मंत्रियों पर भी विश्वास नहीं है।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी के लोग तानाशाही चाहते हैं। वे कार्यक्रम आयोजित नहीं करने दे रहे हैं। त्रिपुरा में उन्होंने हमारे लोगों को रैली नहीं करने दी। क्या ये लोकतंत्र है? चुनाव बाद हिंसा में कुछ नहीं हुआ। वे देश की संस्थाओं को नष्ट कर रहे हैं।

Share.

Comments are closed.