दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक करीब 200 किसान गुरुवार को बसों के जरिये जंतर-मंतर आएंगे और शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन करेंगे. पुलिस निगरानी में यह बस जंतर मंतर पहुंचेगी. जंतर-मंतर पर सुरक्षा इंतजाम किए जा रहे है।

किसान सुबह 10:30 बजे जंतर-मंतर पहुचेंगे. जंतर-मंतर पर चर्च साइड उन्हें शांतिपूर्ण तरीके से बैठाया जाएगा।

किसानों की सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस और अर्धसैनिक बलों की 5 कंपनियां तैनात की जाएंगी।

सभी के पहचान पत्र चेक करने के बाद ही बैरिकेड के अंदर जाने दिया जाएगा। शाम 5 बजे किसान अपना प्रदर्शन खत्म कर वापस सिंघु बॉर्डर लौट जाएंगे।

हालांकि दिल्ली पुलिस ने आधिकारिक तौर पर प्रदर्शन के लिए परमिशन को लेकर अब तक कुछ नहीं कहा है।

सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने कई शर्तें रखी हैं. हालांकि किसानों ने अब तक इन शर्तों को मंजूर नहीं किया है।

और न ही दिल्ली पुलिस को कोई जवाब दिया है।  

सूत्रों के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने किसानों के प्रोटेस्ट में कुछ टर्म और कंडीशन रखी है। अगर शर्ते मानी जाएंगी, तभी दिल्ली पुलिस किसानों को आंदोलन की परमिशन देगी।

अभी तक किसानों  की तरफ से पुलिस की शर्तों पर मुहर नही लगी है, लेकिन पुलिस से बातचीत लगातार जारी है।

इधर, सिंघु बॉर्डर पहुंचकर INLD नेता और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला ने कहा कि वह कल संसद का घेराव करेंगे।

उन्होंने कहा कि वह कल दिल्ली में धरना देंगे और इकट्ठे होकर संसद में जाएंगे और काले कानून का विरोध करेंगे। ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि सरकार को मजबूर होकर कानून वापस लेने पड़ेंगे।

इधर, लाल किले की सुरक्षा को लेकर एडिशनल DCP अनिता रॉय ने बताया कि यहां पर तीन शिफ्ट में हमारी ड्यूटी रहती है। लालकिला को 24 घंटे सुरक्षा कवरेज दिया जा रहा है।

लालकिला को आने वाले सभी रास्तों पर भी सुरक्षा मजबूत रहेगी।

ड्रोन जैसे हमलों को नाकाम करने की पूरी तैयारी है. एक तो ट्रेनिंग और रूफ स्टाफ को बताया गया है कि कैसे एक्शन लेना होगा, उसके अलावा एयरफोर्स, DRDO, NSG के साथ मिलकर 360 डिग्री कवरेज दिया जाएगा।

उसकी मॉकड्रिल की जाएगी. कोरोना को देखते हुए जैसा पहले किया गया था. वही 20-20 रहेगा।

Share.

Comments are closed.