उत्तर प्रदेश के उन्नाव में ब्लॉक प्रमुख चुनाव की कवरेज के दौरान पत्रकार कृष्णा तिवारी को दौड़ा कर पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पाए तेजी से वायरल हुआ मामला टूल पकड़ा तो कई लोग पत्रकारिता की हत्या तो कई तनाशाही शासन तक बता दिया लेकिन सीडीओ दिव्यांशु पटेल ने रविवार को पत्रकार कृष्णा तिवारी को मिठाई खिलाकर मारपीट के मामले को रफा दफा कर दिया।

वंही अब सोशल मीडिया पर सवाल उठ रहा है जो पत्रकार खुद के साथ हुए अन्याय को काजू कतली की बर्फी में निपटा सकता है वह आम जनता के न्याय के लिए क्या लड़ेगा ?

वायरल वीडियो में उन्नाव के सीडीओ दिव्यांशु पटेल पत्रकार कृष्णा तिवारी को दौड़ाकर थप्पड़ मारते हुए दिखाई दे रहे थे। पत्रकार ने आरोप लगाया था सीडीओ के साथ साथ भाजपा के कार्यकर्ताओं ने भी उसके साथ मारपीट की थी। इस दौरान उसके दोनों मोबाइल भी तोड़ दिए गए थे।

पत्रकार कृष्णा तिवारी के साथ हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने के बाद सीडीओ दिव्यांशु पटेल की जमकर आलोचना हुई थी। लोगों ने दिव्यांशु पटेल के ऊपर कार्रवाई करने और उन्हें उन्नाव के सीडीओ के पद से हटाने की भी मांग की थी।

लेकीन अलगे दिन जो तस्वीर सामने आयी है वह सामने है। इस दौरान दोनों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर इस मामले को रफा दफा किया। दोनों के बीच सुलह होने के बाद मारपीट को लेकर पत्रकार कृष्णा तिवारी के द्वारा दी गई शिकायत में सीडीओ दिव्यांशु पटेल का नाम नहीं दिया गया। मारपीट की घटना पर उन्नाव के जिलाधिकारी को रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

Share.

Comments are closed.