जयपुर: राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (sachin Pilot) ने बुधवार को कहा कि बढ़ती महंगाई (inflation) से आम जनता परेशान है और केंद्र सरकार महंगाई रोकने में पूरी तरह नाकाम रही है।

उन्होंने यहां महिला कांग्रेस द्वारा देश में बढ़ती महंगाई के खिलाफ धरने को संबोधित करते हुए कहा कि पूरा देश चाहता है कि केंद्र सरकार महंगाई कम करे और जब तक केंद्र सरकार ये बढ़े हुए दाम वापस नहीं लेगी, हम लगातार आंदोलन करते रहेंगे।

पायलट ने महंगाई को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार मनमानी करने वाली जिद्दी सरकार है इसे आम जनता की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में जहां बाकी देशों में सरकारों में लोगों की जेब में पैसा डाला ताकि वह अपना घर चला सकें वहीं हमारी केंद्र सरकार ने लोगों की जेब पर डाका डाला।

उल्लेखनीय है कि देश में बढ़ती महंगाई के मुद्दे को लेकर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार प्रदेश कांग्रेस सात जुलाई से 17 जुलाई तक केन्द्र सरकार के विरूद्ध अभियान चला रही है। इसके पहले दिन बुधवार को महिला कांग्रेस द्वारा प्रत्येक जिला मुख्यालय पर विरोध-प्रदर्शन किया गया।

एक तरफ जहां विपक्षी दल महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार (Centre Govt) पर हमलावर है तो वहीं, खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने कहा है कि पिछले 4 से 5 हफ्तों में मसूर दाल को छोड़कर सभी दालों के दाम में गिरावट दर्ज हुई है।

सोमवार को खाद्य सचिव ने कहा कि मसूर दाल का आयात बढ़ा है और उम्मीद है कि आने वाले दिनों में उसकी कीमत में भी नरमी आएगी। एक वर्चुअल मीडिया ब्रीफिंग में देश के कई हिस्सों में दालों की बढ़ी कीमतों पर पत्रकारों के सवालों के जवाब में उन्होंने ये बात कही।

सुधांशु पांडेय ने कहा कि पिछले दिनों स्टॉक लिमिट लगाने के सरकार के फैसले से दाल की कीमतों में आने वाले दिनों में और नरमी आने की उम्मीद है।

(इस खबर को thenetizennews टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Share.

Comments are closed.