आजमगढ़ में एक सीओ पीआर कथित आरोप है कि उनके अनुसार छोटी जाति की महिलाएं मौज लेने के लिए होती है। वहीं उन्नाव का एक सीओ जो लापता था वह अपनी महिला सिपाही के साथ कानपुर के एक होटल में रंगरलिया मनाते पकड़ा गया।

उपयुक्त दोनों घटनाओं से साफ हो जाता है कि उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन के लिए महिलाओं का सम्मान कितना मायने रखता है। महज एक दिन पहले कासगंज की एक कोतवाली में महिला सिपाही प्रताड़ना के कारण कोतवाली में ही फांसी के फंदे से झूल कर आत्महत्या का प्रयास किया था।

इसके साथ ही आए दिन कोई न कोई पुलिस महकमे की ऐसी खबर सामने आती है जहां महिलाओं खुलकर आरोप लगाती हैं कि उनके सीनियर अधिकारी कई बार समझौता करने को कहते है ।

अब मामला उन्नाव का है , उन्नाव के एक सीओ छुट्टी लेकर लापता हो गए। परिजन परेशान हुए तो पुलिस के उच्चाधिकारियों को सूचना दी।

मंगलवार रात पुलिस की टीम ने उनकी लोकेशन ट्रेस की और कानपुर माल रोड स्थित एक होटल पहुंची। यहां पर सीओ एक महिला सिपाही के साथ पकड़े गए।

तब पता चला कि सीओ साहब किसी मुसीबत में नहीं, बल्कि महिला सिपाही के रंगरलियां बनाने के लिए गायब हुए । मूलरूप से गोरखपुर के रहने वाले एक सीओ की वर्तमान में उन्नाव जिले में तैनाती है। मंगलवार दोपहर को उन्होंने घर जाने के लिए छुट्टी मांगी।

देर शाम तक तक गोरखपुर नहीं पहुंचे। उनका फोन भी नहीं उठ रहा था। इससे उनके परिवार वाले चिंतित हुए। उन्होंने पुलिस के आलाधिकारियों को जानकारी दी। आशंका जताई कि वे किसी मुसीबत में भी हो सकते हैं। पुलिस अफसरों ने अपने स्तर से सीओ को फोन करना शुरू किया।

तब भी कोई जवाब नहीं मिला। इससे अनहोनी की आशंका हुई। आनन-फानन में उनकी लोकेशन ट्रेस की गई। लोकेशन कानपुर माल रोड की मिली। मंगलवार रात करीब 12 बजे उन्नाव पुलिस माल रोड स्थित मंदाकिनी होटल पहुंची।

होटल में सीओ अपनी एक महिला मित्र (सिपाही) के साथ मिले। होटल का रजिस्टर खंगाला तो पता चला कि मंगलवार दोपहर ही सीओ साहब महिला सिपाही संग होटल आ गए थे। पुलिस ने तत्काल इसकी जानकारी उनके परिजनों को दी।

घर में बोले- शादी में जाना है।

सीओ ने विभागीय अफसरों से घर जाने की बात कहकर छुट्टी ली थी। वहीं दूसरी तरफ परिजनों को एक शादी में शामिल होने की बात कही थी।

हालांकि वे होटल में अपने ही सर्किल की एक सिपाही के साथ आए। रूम नंबर 201 में ठहरे। एक नंबर स्विच ऑफ कर लिया और दूसरा रिसीव नहीं कर रहे थे। उधर विभाग में चर्चा है कि किसी अफसर ने ही सीओ की पत्नी को सूचना दे दी।

Share.

Comments are closed.