उत्तर प्रदेश के कानपुर में फिर एक चर्चित मामला सामने आया है। यहां पूर्व महिला पार्षद का भतीजा 13 साल की बच्ची से दुष्कर्म करने के बाद फरार हो गया।

पीड़ित परिवार की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रेप और पॉक्सो ऐक्ट में मुकदमा दर्ज किया है। मंगलवार को पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

मामला चकेरी थाना इलाके में स्थित श्यामनगर में रहने वाली पूर्व पार्षद ममता राजपूत परिवार के साथ रहती हैं। पूर्व पार्षद के मकान में पीड़ित परिवार पिछले कई सालों से किराये पर रह रहा था।

पूर्व पार्षद ममता राजपूत आरोपी आशीष राजपूत की सगी बुआ हैं। आशीष राजपूत मूलरूप से जनपद औरैया के परमहंस कस्बे का रहने वाला है। आशीष लॉकडाउन में बीते पांच महीने से अपनी बुआ के घर पर रह रहा था।

मुंह दबाकर बच्ची को ले गया आरोपी

पीड़िता के पिता ने बताया कि बच्ची की मां दूसरे के घरों मे खाना बनाती है। बीते सोमवार सुबह पत्नी काम पर चली गई थी, और 13 वर्षीय बच्ची घर पर अकेले थी।

बेटी शौच के लिए घर के पीछे बने शौचालय पर जा रही थी, उसी दौरान आशीष राजपूत बेटी का मुंह दबाकर कमरे में ले गया और दरवाजा बंद कर लिया। आशीष ने बच्ची के साथ गलत काम किया, इसके बाद फरार हो गया।

बच्ची ने मां को बताई आपबीती

पीड़िता के पिता ने बताया कि इस घटना के बाद बेटी की तबीयत बिगड़ गई। बच्ची की मां जब काम से लौट कर आई तो उसने देखा कि बेटी की तबीयत ठीक नहीं है। जब मां ने बच्ची से पूछा तो उसने आपबीती बताई। पत्नी ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी मुझे दी। इसके बाद मैंने पुलिस से शिकायत की थी।

भागने की फिराक में था आरोपी

चकेरी इंस्पेक्टर रवि श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपी आशीष राजपूत कहीं भागने के प्रयास में था। मुखबिर ने सूचना दी कि आशीष पीएसी मोड़ पर खड़ा है। तत्काल पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी रेप और पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

Share.

Comments are closed.