लगातार उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराध और प्रशासन पर उठाते सवाल के बीच अब सवाल आखिर सुरक्षित कौन है ? उत्तर प्रदेश के कासगंज में सोरों से सटे गांव होडलपुर में रविवार की देर शाम घात लगाए बैठे हथियारों से लैस हमलावरों ने एक परिवार के पांच लोगों पर अंधाधुंध गोलिया बरसा दीं।

तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि गोलियों से गंभीर घायल दो लोगों को इलाज के लिए अलीगढ़ भेजा गया है। गांव में जिन लोगों की हत्या की गई है, वह भाजपा के पूर्व विधायक स्व. नेतराम सिंह के पुत्र के रिश्तेदार हैं।

गांव में सनसनीखेज हत्याकांड की खबर मिलते ही पुलिस के आला अफसर गांव में पहुंच गये। पुलिस अधिकारियों को घटनास्थल पर पीड़ितों व ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा।

देर रात एडीजी आगरा जोन के घटनास्थल पर पहुंचने की खबर मिली है। एसपी ने हमलावरों को चिन्हित कर गिरफ्तारी के लिए आधा दर्जन पुलिस टीमें गठित कर दी हैं। देर रात तक हत्याकांड के मामले में पीड़ित पक्ष की ओर से पुलिस को तहरीर नहीं दी गई। हत्याकांड की रिपोर्ट देर रात शासन को भेजी गई है।

पुलिस के मुताबिक गांव होडलपुर निवासी राजपाल बाबा की सोरों में बजरी सीमेंट की दुकान है। जिस पर शाम को पुत्र और भाई समेत परिवार के पांच सदस्य दुकान पर थे।

https://twitter.com/kasganjpolice/status/1287443858498785280?s=20

शाम को दुकानबंद होने के समय करीब छह बजे राजपाल बाबा दुकान से घर आ गये जबकि उनका पुत्र रुद्र, भाई प्रेम सिंह, राधाचरण, प्रमोद और गुड्डू दुकान बंद करके गांव होडलपुर घर के लिए लौट रहे थे।

तभी दुकान और गांव के बीच में बाग के समीप घात लगाए हमलावरों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाना शुरू कर दिया। गोलियां लगते ही मौके पर प्रेम सिंह, रुद्र एवं राधाचरण की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि प्रमोद और गड्डू गोलियां लगने से जमीन पर गिर पड़े।

जैसे ही गोलियों की आवाज पास ही गांव में सुनाई दी तो गांव के लोग और राजपाल बाबा एवं परिवार के प्रधानपति बिजेंद्र समेत परिवार के लोग मौके की ओर दौड़ पड़े। जहां रास्ते में रुद्र और राधाचरण के शव पड़े मिले।

एवं प्रेम सिंह का शव पास ही तालाब किनारे गोलियां लगा पड़ा मिला। ग्रामीणों और परिवार के लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस और ग्रामीणों ने घायल प्रमोद व गुड्डू को अस्पताल भिजवाया।

सूचना पाकर डीएम चन्द्रप्रकाश सिंह एवं एसपी सुशील घुले समेत आला अफसर गांव में पहुंच गये। मृतक रूद्र प्रधान बिजेंद्र का भाई है प्रेमसिंह ताऊ और राधाचरण (पप्पू) उसका चाचा था।

Share.

Comments are closed.