फरवरी में उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़के दंगे की चार्जशीट में इरफान की हत्या के आरोप में भाजपा के ब्रह्मपुरी मंडल के महामंत्री ब्रजमोहन शर्मा का भी नाम शामिल है।

आरोपी भाजपा नेता बीते मार्च से ही पुलिस हिरासत में हैं। 23 जून को चार्जशीट दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट में चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पुरुषोत्तम पाठक के सामने पेश की गई है।

चार्जशीट में कहा गया है कि ब्रजमोहन शर्मा करीब एक दशक से राजनीति से जुड़ा हुआ है और स्थानीय लोगों के बीच ‘नेताजी’ के नाम से जाना जाता है।

ब्रजमोहन (41 वर्ष) को 28 मार्च को अपने पड़ोसी सनी सिंह (32 वर्ष) के साथ इरफान की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। चार्जशीट में बताया गया है कि ब्रजमोहन ने हत्या की बात कबूल कर ली है। ब्रजमोहन के पिता हरीश चंद्र शर्मा भी पूर्व भाजपा नेता हैं और पार्टी के किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं।

ब्रजमोहन शर्मा के पिता का कहना है कि “उसे फंसाया गया है। उन्होंने दावा किया कि दंगों से पहले दो स्थानीय पुलिसकर्मियों ने कंस्ट्रक्शन के काम की मंजूरी के लिए दो परिवारों से पैसे की मांग की थी। इस पर मेरे बेटे ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया था।

एक माह बाद जब दंगे हुए तो उन्होंने मेरे बेटे के खिलाफ बयान दर्ज कर लिया। स्थानीय पुलिसकर्मियों ने हमारे राजनैतिक प्रतिद्वंदी के साथ मिलकर उसे फंसाया है। वह तो घटना के वक्त घर में मौजूद था।”

Share.

Comments are closed.