उत्तर प्रदेश में 25 स्कूलों में फर्जी तरीके से नौकरी करने के मामले में सुर्खियों में आई शिक्षिका अनामिका शुक्ला को कासगंज पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है।

अनामिका शुक्ला यहां के कस्तूरबा विद्यालय फरीदपुर में विज्ञान की शिक्षिका के रूप में पूर्णकालिक रूप से सेवाएं दे रही थीं। बेसिक शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों के निर्देशों पर जिले में अनामिका शुक्ला नाम की शिक्षिका की तलाश की गई तो कस्तूरबा विद्यालय में यह शिक्षिका पाई गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार कासगंज के बेसिक शिक्षा अधिकारी अंजली अग्रवाल के ऑफिस में उसने अपने साथी के हाथ से त्यागपत्र भेजा था, लेकिन उसके साथी को दफ्तर में साथी को बैठा लिया गया।

इसके बाद बीएसए ने अपने ऑफिस के कर्मचारियों को भेज कर उसे सड़क से पकड़वाया और थाना सोरो पुलिस को सौंपा है।अनामिका शुक्ला कासगंज के कस्तूरबा विद्यालय फरीदपुर में विज्ञान की शिक्षिका के रूप में पूर्णकालिक रूप से सेवाएं कर रही थी।

मानव सम्पदा पोर्टल पर डाटा फीडिंग के कारण खुला था राज :

बीते दिनों मानव संपदा पोर्टल की व्यवस्था लागू होने के बाद केजीबीवी की भी सभी शिक्षिकाओं का डाटा पोर्टल पर दर्ज किया गया। बागपत में अनामिका शुक्ला का डाटा दर्ज करते ही पकड़ में आया कि अनामिका शुक्ला के नाम से ही मैनपुरी, अंबेडकरनगर, बागपत, अयोध्या, अलीगढ़, सहारनपुर और प्रयागराज के कुल 24 केजीबीवी में भी शिक्षिकाएं कार्यरत हैं।

अनामिका को बीते 13 महीने में 25 केजीबीवी में करीब कुल एक करोड़ रुपये के मानदेय का भुगतान किया गया है।

बेसिक शिक्षा महानिदेशक विजय किरण आनंद ने बताया कि मामले की जांच शुरू कर दी गई है। सभी 25 केजीबीवी से मानदेय एक ही बैंक खाते में गया या अलग-अलग खातों में भुगतान किया गया, इसकी जांच की जा रही है।

बागपत में अनामिका शुक्ला के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। अयोध्या, अलीगढ़, सहारनपुर और अंबेडकरनगर में शनिवार को जांच पूरी होने के बाद एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। 

फर्जी शिक्षकों पर दर्ज होगी रिपोर्ट

डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय से बीएड की डिग्री फर्जी घोषित होने के बाद बीएसए के निर्देश पर खंड शिक्षाधिकारियों ने चार फर्जी शिक्षकों के विरुद्ध थाना कोतवाली में तहरीर दी है।

ये शिक्षक करहल और घिरोर विकास खंड के स्कूलों में तैनात हैं। कोतवाली पुलिस ने तहरीर मिलने के बाद जांच शुरू कर दी है। बीएसए विजय प्रताप सिंह ने बताया कि इन शिक्षकों के विरुद्ध रिकवरी की तैयारी भी चल रही है।

अलीगढ़ में मुकदमे के आदेश

अनामिका शुक्ला ने अलीगढ़ में भी जालसाजी की है। ज्वाइनिंग लेकर 95 हजार रुपये बतौर तनख्वाह उठाने वाली अनामिका के खिलाफ बीएसए ने मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए हैं।

Share.

Comments are closed.