सुप्रीम कोर्ट के उस ताजा फैसले का विरोध में 23 फ़रवरी को भारत को बंद का ऐलान किया गया जिसमें प्रमोशन में आरक्षण को लेकर आदेश जारी किया गया था।

भीम आर्मी ने इसके विरोध में 16 फरवरी को दिल्‍ली में मंडी हाऊस से संसद तक रैली भी निकाली। विरोध के अगले क्रम में अब 23 फरवरी को भारत बंद का आह्वान है।

मालूम हो कि गत दिनों सुप्रीम कोर्ट ने उत्‍तराखंड से जुड़े एक केस की सुनवाई के दौरान यह व्‍यवस्‍था दी थी कि प्रमोशन में आरक्षण या कोटा सिस्‍टम किसी भी मौलिक अधिकार के तहत नहीं आता है।

भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने अपने ट्विटर हैंडल से इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि आरक्षण से किसी भी प्रकार की छेड़छाड़ बर्दाश्त नही की जाएगी। मैं सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील करता हूँ कि 23 फरवरी के भारत बंद में सहयोग करें।

चंद्रशेखर ने अति पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, जनजाति व अल्पसंख्यक वर्ग के लोगों से भी अपील की है कि वे भारत बंद के समर्थन में घर से बाहर निकलें। भीम आर्मी की मांग है कि निजी क्षेत्र की नौकरियों में भी आरक्षण लागू किया जाना चाहिये।

Share.

Comments are closed.