पुरी: पुरी जिले में अलग-अलग घटनाओं में दो नाबालिग लड़कियों के साथ कथित तौर पर बलात्कार के बाद लड़कियों और महिला सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े होने लगे। जिसके बाद काफी हंगामे के बाद जाँच शुरू हुआ।

हंगामा के बाद जब लोग सड़को पर पर उतरे तो पुरी में कुंभारपाड़ा पुलिस की सीमा के तहत नाबालिग लड़की से बलात्कार के आरोप में पुलिस ने सोमवार को घटना के आधार पर शिकायत दर्ज करके जाँच शुरू किया। जिसमे एक पुजारी को गिरफतार किया गया।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह घटना कुछ सात से आठ दिन पहले की है, लेकिन मामला तब सामने आया जब दो दिन पहले पीड़ति परिवार के लोगों ने घटना के संबंध में औपचारिक शिकायत दर्ज कराई।

खबरों के मुताबिक, आरोपी पुजारी उमेश नाबालिग लड़की के घर रोज पूजा करने जाता था।जिसके बाद मौके का फयदा उठाकर पुजारी ने नाबालिक से दुष्कर्म किया। लड़की के परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों के बाद, पुलिस ने आज आरोपी पुजारी उमेश को हिरासत में लिया।

हालंकि आरोपी उमेश ने कहा, “लड़की मेरी बेटी की तरह है और मुझे मामले में झूठा फंसाया जा रहा है।”

जबकि वंही दूसरी घटना 15 फरवरी को चंदनपुर पुलिस की सीमा में घटित हुयी जहाँ एक नाबालिग लड़की के साथ उसके पड़ोसी द्वारा कथित रूप से बलात्कार किया गया था। सूत्रों ने कहा कि आरोपी फरार होने में कामयाब हो गया क्योंकि घटना के संबंध में शिकायत दर्ज करने के लिए परिवार की ओर से देरी हुई।

पुरी एसपी उमा शंकर दास ने बताया कि POCSO अधिनियम के तहत दो मामले दर्ज किए गए हैं और हमने एक आरोपी को गिरफ्तार किया है।आगे उन्होंने कहा –

“हमने चंदनपुर पुलिस सीमा के तहत एक नाबालिग लड़की के बलात्कार में शामिल आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम बनाई है। इस घटना की सूचना देने में देरी होने के कारण आरोपी भागने में सफल रहे, ”

Share.

Comments are closed.