नई दिल्ली : नागरिकता संशोधन कानून CAA के विरोध में बॉलीवुड के कई कलाकार भी खुलकर सामने आये हैं। अभिनेत्री स्वरा भास्कर के विरोध के बाद अब इस कानून के विरोध में अभिनेत्री और अब कांग्रेस पार्टी की नेता उर्मिला मांतोडकर ने भी नागरिकता संशोधन कानून CAA का विरोध किया है।

उर्मिला ने नागरिकता संशोधन कानून CAA की तुलना ब्रिटिश सरकार के रोलेट एक्ट से की है। उर्मिला ने कहा है कि मोदी सरकार का ये कानून बिल्कुल 1919 के रोलेट एक्ट की तरह है। उन्होंने कहा द्वितीय विश्व युद्ध की समाप्ति के बाद अंग्रेज जानते थे कि भारत में सामाजिक असंतोष फ़ैल रहा है और यह युद्ध के ख़त्म होने के बाद यह और बढ़ा सकता है। इसलिए अंग्रेजों ने रोलेट एक्ट लाया।

उर्मिला ने कहा कि साल 1919 का रोलेट एक्ट अब 2019 का नागरिकता संशोधन कानून CAA बन गया है। हालाँकि उर्मिला ने 1919 द्वितीय विश्वयुद्ध की बात कही जबकि वह प्रथम विश्वयुद्ध था।

आपको बता दें रोलेट एक्ट को भारतीय इतिहास का काला कानून कहा जाता है। टिश शासन के दौरान भारत में उभर रहे राष्ट्रीय आंदोलन को कुचलने के लिए सर सिडनी रौलेट की अध्यक्षता वाली सेडिशन समिति की शिफारिशों के आधार रॉलेक्ट एक्ट (The Anarchical and Revolutionary Crime Act, 1919) लाया गया था।

Share.

Comments are closed.