कानपुर : 17 जनवरी शुक्रवार को देर रात कानपुर में हुई दर्दनाक घटना को लेकर बड़ी ख़बर सामने आई है। पुलिस ने छेड़छाड़ के आरोपी द्वारा पीड़िता की मां व मौसी पर जानलेवा हमले करने वाले 2 आरोपियों परवेज और मोहम्मद आबिद को एनकाउन्टर के बाद गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों के पैर में पुलिस की गोली लगी है। पुलिस को इनके पास से देसी असलहे और कारतूस भी बरामद हुए हैं। पुलिस मामले में अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

बता दें कि कल (शुक्रवार) को छेड़छाड़ पीड़िता किशोरी की मां की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी, जिसके बाद एक्शन में आई पुलिस ने दो आरोपियों को एनकाउन्टर के बाद गिरफ्तार किया। जबकि एक आरोपी पहले ही पुलिस एनकाउन्टर में घायल होने के बाद गिरफ्तार हो चुका है।

दरअसल चकेरी थाना क्षेत्र के जाजमऊ में रहने वाले साइकिल दुकानदार की नाबालिग बेटी से 2018 में क्षेत्र के दबंगों महफूज, मोहम्मद आबिद, जावेद, परवेज उर्फ मिंटू और महबूब ने सामूहिक दुष्कर्म का प्रयास किया था। मामले में पीड़िता किशोरी की मां की तहरीर पर पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ चकेरी थाने में छेड़छाड़ और पाक्सो एक्ट समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

जमानत पर छूटने के बाद से आरोपी पीड़िता की मां को मुकदमा वापस लेने के लिए धमका रहे थे। जिसकी शिकायत उन्होंने स्थानीय पुलिस से की थी। आरोप है कि पुलिस ने शिकायत को अनदेखा किया। इसके बाद समझौता नहीं करने पर आरोपियों ने गुंडों के साथ पीड़िता के घर पर 9 जनवरी को जानलेवा हमला कर दिया था।

आरोपितों ने पीड़िता की मां और मौसी पर चापड़ से जानलेवा हमला किया था। पीड़िता की मां का हैलट और मौसी का चकेरी के एक निजी अस्पताल के आईसीयू में इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान शुक्रवार सुबह पीड़िता की मां ने दम तोड़ दिया, जबकि मौसी की हालत नाजुक बनी हुई है।

मामले में राज्य की योगी सरकार की किरकिरी के बाद अब कानपुर पुलिस ने दो आरोपियों परवेज और मोहम्मद आबिद को एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार किया है। इससे पहले पुलिस महबूब और दो अन्य लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

पुलिस के अनुसार मामले में अब तक तीन नामजद सहित कुल 5 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, वहीं 7 लोग फरार हैं। एसएसपी ने फरार चल रहे अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए है तीन टीमों का गठन किया है।

https://demo.gravitynetworks.in/after-beating-the-retired-inspectors-goonie-poor-go-to-pakistan/
Share.

Comments are closed.